जी और सोनी के बीच अभी भी चल रहा है विलय का विचार, यह है योजना

मुंबई- जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज (ZEEL) और सोनी ग्रुप 10 बिलियन डॉलर के उस मर्जर को बचाने के लिए आपस में बातचीत कर रहे हैं, जिसे सोनी ने 22 जनवरी को कैंसिल कर दिया था।

रिपोर्ट के अनुसार, दोनों कंपनियों ने पिछले 15 दिनों कई बैठकें की हैं, जिसका लक्ष्य प्रमुख मतभेदों को दूर करना और अगले 48 घंटों के अंदर एक समझौते पर पहुंचना है। रिपोर्ट में बताया गया है कि जी के MD और CEO पुनीत गोयनका ने सोनी की इस मांग पर सहमति व्यक्त की है कि वह मर्जर के बाद बनने वाली नई कंपनी को लीड नहीं करेंगे।

वहीं, सोनी ने कहा है कि गोयनका नई कंपनी के लिए सबसे अच्छे सलाहकार हो सकते हैं। हालांकि, अभी तक दोनों कंपनियों की ओर से इसके बारे में कोई भी ऑफिशियल जानकारी नहीं दी गई है।

सोनी भारत में अपने बिजनेस को बहुत ज्यादा बढ़ा नहीं पा रही थी, वहीं जी पर कर्ज का बोझ था। जी पर कर्ज का बोझ इसलिए था, क्योंकि उस पर लंबे समय से एस्सेल ग्रुप का कंट्रोल था और एस्सेल पर 2.4 बिलियन डॉलर (करीब 20,000 करोड़ रुपए) का कर्ज था।

इन्हीं कारणों से इन दोनों कंपनियों ने मर्जर का फैसला लिया था। इस मर्जर से दोनों कंपनियों को बड़ा और डायवर्स ऑडियंस बेस मिलता। सोनी ने भारत में 1995 में अपना पहला टीवी चैनल लॉन्च किया था। वहीं जी ने अपना पहला चैनल 1992 में लॉन्च किया था।

2021 में जी ने जापान के सोनी कॉर्प की सहायक कंपनी सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (अब कल्वर मैक्स एंटरटेनमेंट लिमिटेड) के साथ मर्जर की घोषणा की थी, लेकिन क्रेडिटर्स की आपत्तियों सहित अन्य कारणों से ये विलय पूरा नहीं पाया है। अगर मर्जर होता है तो इससे 10 बिलियन डॉलर (करीब 83 हजार करोड़ रुपए) की कंपनी बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *