विकसित देश बनने के लिए सालाना 7-8 फीसदी वृद्धि दर की होगी जरूरत

मुंबई- रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर सी रंगराजन ने कहा कि 2047 तक एक विकसित राष्ट्र बनने के लिए भारत को सालाना सात से आठ फीसदी की दर से बढ़ने की जरूरत है। नवाचार गरीबी या असमानताओं को कम करने का एकमात्र समाधान नहीं हो सकता है।

पूर्व गवर्नर ने एक कार्यक्रम में मंगलवार को कहा, विकसित देश का मतलब प्रति व्यक्ति आय 13,000 डॉलर होनी चाहिए। भारत में प्रति व्यक्ति आय अभी 2,700 डॉलर है। इसका मतलब इसे पांच गुना बढ़ाने की जरूरत है। तेज विकास दर के अलावा, देश को नकदी और बुनियादी आय के रूप में सब्सिडी जैसी सामाजिक सुरक्षा की जरूरत हो सकती है। इसे हासिल करने के लिए 7-8 फीसदी की दर से विकास करना होगा।

रंगराजन के मुताबिक, यदि विनिमय दर को निचले स्तर पर रखा जाए। इससे नॉमिनल आय में वृद्धि होगी। तभी भारत एक विकसित राष्ट्र बन सकता है। भारतीय अर्थव्यवस्था के डॉलर मूल्य की गणना वास्तविक वृद्धि, महंगाई के स्तर और विनिमय दर पर निर्भर करती है। पिरामिड के निचले स्तर के लोगों के लिए आजीविका के अवसर बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान देना होगा। टेक्नोलॉजी को ऐसे नवाचारों पर ध्यान केंद्रित करना होगा जो गरीब लोगों को सस्ती और सुलभ सुविधाएं प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *