यस बैंक के शेयर ने तीन दिन में एक लाख रुपये को बनाया 1.43 लाख रुपये

मुंबई- यस बैंक के शेयरों में लगातार तीसरे दिन तेजी दिख रही है। कल एनएसई पर कारोबार के दौरान इस बैंक का शेयर करीब सात फीसदी तेजी के साथ 32.70 रुपये पर पहुंच गया जो इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है।

पिछले तीन दिन में यह शेयर 43 परसेंट उछल चुका है। आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक के यस बैंक में 9.5 परसेंट पेड-अप शेयर कैपिटल खरीदने के प्रस्ताव को हाल में मंजूरी दी थी। उसके बाद से यस बैंक के शेयरों में लगातार तेजी आ रही है। गुरुवार को बीएसई पर इसकी कीमत 32.74 रुपये तक पहुंची जो इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है। इसका 52 हफ्ते का न्यूनतम स्तर 14.10 रुपये है। पिछले साल 23 अक्टूबर को यह इस स्तर तक गिरा था।

दिसंबर तिमाही में यस बैंक का प्रॉफिट पिछले साल के मुकाबले चार गुना बढ़कर 231 करोड़ रुपये पहुंच गया। इस दौरान बैंक की नेट इंटरेस्ट इनकम 2.4 फीसदी की तेजी के साथ 2,017 करोड़ रुपये रही। प्रॉविजन में भारी गिरावट से बैंक के मुनाफे में तेजी आई है। दिसंबर तिमाही में प्रॉविजंस एंड कंटिजेंसीज की राशि 555 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले 845 करोड़ रुपये थी।

बैंक का नेट एनपीए रेश्यो दिसंबर में 0.9 परसेंट रहा जो एक साल पहले एक परसेंट था। सितंबर तिमाही से इसमें कोई बदलाव नहीं आया। पिछले छह महीने में इस बैंक के शेयरों की कीमत में 95 फीसदी तेजी आई है। एसबीआई इस बैंक में ब्लॉक डील के जरिए 5,000-7,000 करोड़ रुपये के शेयर बेच सकता है। यह बिक्री 31 मार्च को हो सकती है।

आंकड़ों के मुताबिक एसबीआई की यस बैंक में 26.13 फीसदी हिस्सेदारी है। गुरुवार के भाव के हिसाब से इसकी कीमत 22,900 करोड़ रुपये है। यस बैंक में एचडीएफसी बैंक की अभी तीन फीसदी हिस्सेदारी है। साथ ही यस बैंक में आईसीआईसी बैंक (2.61%), एक्सिस बैंक (1.57%), कोटक महिंद्रा बैंक (1.32%) और आईडीएफसी बैंक (एक परसेंट) हिस्सेदारी है। जानकारों का कहना है कि यस बैंक के शेयर की कीमत 44 रुपये तक जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *