सरकार अब अगरबत्ती, टूथब्रश भी बेचेगी, अमेजन व फ्लिपकार्ट को टक्कर

मुंबई- सरकार अब आटा, दाल और चावल के बाद अगरबत्ती-टूथब्रश बेचने की तैयारी कर रही है। अभी सरकार इसकी योजना तैयार कर रही है कि किस तरह से पीडीएस शॉप (PDS Shops) यानी सरकारी राशन की दुकान पर कंज्यूमर ड्यूरेबल प्रोडक्ट्स की ऑनलाइन बिक्री की जा सकती है। सरकार अभी इसकी टेस्टिंग कर रही है।

सरकार के इस कदम से अमेजॉन और फ्लिपकार्ट (Amazon-Flipkart) जैसी दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनियों को कड़ी टक्कर मिलने वाली है। सरकार की योजना आने वाले दिनों में ओएनडीसी के जरिए कंज्यूमर ड्यूरेबल प्रोडक्ट्स की बिक्री करने की है। ओएनडीसी का टार्गेट ई-कॉमर्स में फ्लिपकार्ट और अमेजॉन जैसी बड़ी कंपनियों के दबदबे को खत्म करने का है।

सरकार राशन की दुकानों को ऑनलाइन बाज़ार से जोड़ने का पायलट प्रोजेक्ट चला रही है। इसका मतलब है कि अब आप राशन की दुकान से टूथब्रश, अगरबत्ती जैसी चीज़ें और कुछ ज़रूरी सामान ऑनलाइन भी खरीद कर सकेंगे। ये काम सरकार के अपने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ओएनडीसी के ज़रिए होगा।

अभी इसको हिमाचल प्रदेश के ऊना और हमीरपुर ज़िलों में ट्रायल के तौर पर चलाया जा रहा है। अगर सब ठीक रहा तो इसे पूरे राज्य में लागू किया जाएगा। इससे राशन दुकानदारों को फायदा होगा, क्योंकि उन्हें ज्यादा ग्राहक मिलेंगे और वो बड़े रिटेलर्स से भी आसानी से मुकाबला कर पाएंगे। जो लोग खुद ऑनलाइन शॉपिंग नहीं कर पाते हैं, वो भी राशन की दुकान से ऑनलाइन ऑर्डर दे सकेंगे।

इस योजना को पहले पूरे हिमाचल प्रदेश में लागू किया जाएगा। इसके बाद पूरे देश में इसकी शुरुआत होगी। इस योजना के लागू होने के बाद ओएनडीसी का दायरा बढ़ने की संभावना है। इस योजना के ट्रायल की शुरुआत 11 फेयर प्राइस शॉप से हुई है। ओएनडीसी में पीडीएस शॉप को जोड़े जाने से अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों को बड़ी चुनौती मिलने वाली है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *