सरकारी बैंकों का 2024-25 में बढ़ेगा मुनाफा, 16,000 करोड़ मिलेगा लाभांश

मुंबई- सरकारी बैंक पिछले कुछ साल की तरह अगले साल भी भारी मुनाफा कमा सकते हैं। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, इस वजह से सरकार को करीब 16,000 करोड़ रुपये का लाभांश मिल सकता है। चालू वित्त वर्ष में 138 अरब रुपये की तुलना में यह लाभांश करीब 9 फीसदी अधिक हो सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 से सरकारी बैंकों को मजबूत करने पर काम किया है। इसके तहत कमजोर बैंकों का मजबूत बैंकों में विलय किया गया। संकट में फंसे बैंकों को 3.3 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की पूंजी दी गई। इससे बैंकों ने मुनाफा कमाना शुरू किया।

वित्तीय सेवा सचिव विवेक जोशी ने कहा, कर्ज की मजबूत मांग से सरकारी बैंकों का शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष में एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहने की उम्मीद है। 12 सरकारी बैंकों ने दिसंबर तिमाही में 980 अरब रुपये का शुद्ध फायदा कमाया है। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले कुछ वर्षों में सरकारी बैंकों के बुरे फंसे कर्ज में सुधार हुआ है। इससे सकल एनपीए मार्च 2017 के 9.6 फीसदी से घटकर सितंबर 2023 में 3.2 फीसदी हो गए हैं।

जोशी ने कहा, सरकारी बैंकों ने इस वित्त वर्ष में बाजार से 430 अरब रुपये जुटाए हैं। पिछले वित्त वर्ष में 450 अरब रुपये जुटाए थे। सरकार पीएनबी, सेंट्रल बैंक सहित चार सरकारी बैंकों को अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में रकम जुटाने की मंजूरी दे सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *