सरकारी तेल कंपनियां अगले वित्त वर्ष में 1.2 लाख करोड़ का करेंगी निवेश

मुंबई- सरकारी तेल कंपनियां अगले वित्त वर्ष यानी 2024-25 में 1.2 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगी। चालू वित्त वर्ष की तुलना में यह पांच फीसदी अधिक रहेगा। यह निवेश गैस के खोजने, रिफाइनरी, पेट्रोकेमिकल और पाइपलाइन बिछाने पर किया जाएगा।

बजट दस्तावेजों के मुताबिक, ऑयल एवं प्राकृतिक गैस (ओएनजीसी) चालू वित्त वर्ष की तुलना में थोड़ा ज्यादा 30,800 करोड़ का निवेश करेगी। ओएनजीसी विदेश 68 फीसदी ज्यादा निवेश करेगी। इंडियन ऑयल सबसे अधिक 30,910 करोड़ का निवेश करेगी जो चालू वित्त वर्ष के 31,254 करोड़ की तुलना में कम होगा।

भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि (बीपीसीएल) का निवेश 30 फीसदी ज्यादा यानी 13,000 करोड़ का होगा जबकि गेल का निवेश चालू वित्त वर्ष के 9,750 करोड़ की तुलना में 8000 करोड़ रुपये होगा। हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि चालू वित्त वर्ष के 12,000 करोड़ की तुलना में 500 करोड़ ज्यादा निवेश करेगी। ऑयल इंडिया का निवेश 22 फीसदी अधिक होगा।

आईओसी और बीपीसीएल के बोर्ड ने पिछले साल राइट्स इश्यू के जरिये 22,000 और 18,000 करोड़ की पूंजी जुटाने को मंजूरी दी थी। एचपीसीएल और बीपीसीएल का लक्ष्य 2046 तक शुद्ध कार्बन उत्सर्जन को खत्म करना है। जबकि आईओसी का लक्ष्य 2046 का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *