जानकारियों का खुलासा नहीं करने पर बजाज फाइनेंस पर 5 लाख का जुर्माना

मुंबई। नियामकीय प्रावधानों के साथ अनुपालन में गड़बड़ी के कारण आरबीआई ने बजाज फाइनेंस पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। नेशनल हाउसिंग बैंक ने बजाज फाइनेंस की वित्तीय स्थितियों का निरीक्षण किया था। इसमें कुछ मामलों में कंपनी को दोषी पाया गया था। इसके बाद आरबीआई ने पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाने का फैसला किया। 

जानकारी के मुताबिक, नेशनल हाउसिंग बैंक ने 31 मार्च, 2022 को कंपनी की वित्तीय स्थिति से जुड़े दस्तावेज की जांच की थी। इस जांच रिपोर्ट के आधार पर पता चला कि कंपनी ने मैनेजमेंट में बदलाव से पहले आरबीआई की परमीशन नहीं ली थी। बजाज हाउसिंग फाइनेंस ने स्वतंत्र डायरेक्टर्स समेत लगभग 30 फीसदी निदेशक बदल दिए थे। इसके बाद केंद्रीय बैंक की ओर से बजाज हाउसिंग फाइनेंस को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया था।

नोटिस के बदले कंपनी का जवाब मिल जाने यह जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई। कंपनी ने लिखित जवाब दिया था। साथ ही सुनवाई के दौरान उसके प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे थे। सुनवाई पूरी होने के बाद बजाज हाउसिंग फाइनेंस के ऊपर लगे आरोप साबित हुए। इसके चलते आरबीआई ने कंपनी पर 5 लाख रुपये जुर्माना लगाने का फैसला लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *