पेटीएम की बैंकिंग सेवाएं एक मार्च से बंद, आरबीआई ने कहा, निकाल लें पैसे

मुंबई- आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक की सारी सेवाओं को एक मार्च से बंद करने का आदेश दिया है। साथ ही नया जमा लेने पर भी रोक लगा दी है। ग्राहकों के खाते, वॉलेट और फास्टैग में जमा या टॉप-अप की सुविधा भी स्वीकार नहीं की जाएगी। हालांकि, ग्राहक इस दौरान अपने पैसे की निकासी या उसका उपयोग कर सकेंगे। हाल के दिनों में किसी सूचीबद्ध बैंकिंग इकाई पर यह सबसे कठोर कार्रवाइयों में से एक है।

आरबीआई ने कहा, बचत, चालू खाता, प्रीपेड इस्ट्रूमेंट्स, फास्टैग, नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड समेत अन्य खातों से ग्राहक शेष राषि की निकासी या उसका उपयोग कर सकेंगे। पेटीएम कोई अन्य बैंकिंग सेवाएं, जैसे फंड ट्रांसफर (एईपीएस, आईएमपीएस आदि जैसी सेवाओं) और भारत बिल पेमेंट ऑपरेटिंग यूनिट, यूपीआई सुविधा भी नहीं दे सकेगा।

केंद्रीय बैंक ने बुधवार को कहा, एक ऑडिट रिपोर्ट और बाहरी ऑडिटर्स की ओर से सत्पापित रिपोर्ट के बाद पेटीएम की बैंकिंग सेवा में गैर अनुपालन और मैटेरियल सुपरवाइजरी चिंताएं उजागर हुई हैं। इसके बाद नए ग्राहक जोड़ने पर प्रतिबंध लगाया गया है। सभी नोडल खातों का निपटान (29 फरवरी तक या उससे पहले शुरू किए गए सभी लेनदेन के संबंध में) 15 मार्च तक पूरा करना होगा। उसके बाद किसी और लेनदेन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

आरबीआई के अनुसार, 29 फरवरी के बाद से मौजूदा ग्राहकों के खातों में न तो पैसे जमा होंगे और न ही उधारी का लेन-देन होगा। हालांकि, ब्याज, कैशबैक या रिफंड किसी भी समय किया जा सकता है। इससे पहले मार्च, 2022 में भी आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक लि. को नए ग्राहक जोड़ने पर रोक लगाई थी, जिसे पिछले साल सितंबर में हटा लिया गया था।

आरबीआई ने इसी के साथ पेटीएम को नोडल खाता भी बंद करने का आदेश दिया है। जब आप व्यापारी को भुगतान करते हैं, तो यह रकम नोडल खाते में जाती है। बाद में यह व्यापारी के खाते में जाती है। दिसंबर में पेटीएम ने एक हजार कर्मचारियों को निकाल दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *