सरकार ब्याज चुकाने पर करती है 20 पैसा खर्च, 34 पैसा आता है कर्ज से

मुंबई- सरकार के खजाने में हर एक रुपए में से सबसे ज्यादा 34 पैसे कर्ज से आते हैं। वहीं ब्याज चुकाने पर सबसे ज्यादा 20 पैसे सरकार खर्च करती है। आज यहां हम ये इसलिए बता रहे हैं, क्योंकि 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अंतरिम बजट पेश करेंगीं।

इस साल लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, इसलिए फुल बजट की जगह अंतरिम बजट पेश किया जाएगा। अंतरिम बजट से वर्तमान सरकार को नई सरकार के आने और पूर्ण बजट पेश होने तक, देश को चलाने के लिए पैसा मिलता है। ऐसे में आपके मन में भी सवाल होगा कि सरकार के पास पैसा आता कहां से है और खर्च कहां-कहां होता है।

सरकार के पास टैक्स और नॉन टैक्स दोनों सूत्रों से पैसा आता है। वहीं ब्याज चुकाने से लेकर सब्सिडी और स्कीम्स सहित अन्य कामों पर सरकार पैसों को खर्च करती है। इसे 1 फरवरी 2023 के बजट के आंकड़ों के आधार पर एक रुपए के उदाहरण से समझते हैं।

स्वतंत्र भारत का पहला बजट षणमुगम चेट्टि ने 26 नवंबर 1947 को पेश किया था। ये बजट 197.39 करोड़ रुपए का था। वहीं 2023 में जो बजट पेश किया गया था वो 45.03 लाख करोड़ रुपए का था। 1947 से लेकर अब तक देश में 73 आम बजट और 14 अंतरिम बजट पेश किए जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *