आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल बिजनेस साइकल फंड में 3 साल में निवेश दोगुना

मुंबई- कारोबारी जगत हमेशा कई चरणों से गुजरता है। कभी मंदी होती है, कभी वृद्धि तो कभी रिकवरी होती है। ऐसी स्थितियों में म्यूचुअल फंड के बिजनेस साइकल फंड एक बेहतर विकल्प बनकर उभरते हैं। आमतौर पर किसी कारोबारी चक्र में वृद्धि, मंदी और रिकवरी के सभी चरण शामिल होते हैं। प्रत्येक चरण किसी न किसी खास सेक्टर को प्रभावित करता है। वृद्धि के चरण में कंपनियां विस्तार की योजनाएं बनाती हैं और इस दौर में नौकरी के अवसर बहुत अधिक होते हैं। ग्राहक उपयोग की वस्तुओं पर पैसा खर्च करते हैं। इसके विपरीत, मंदी के चरण में ग्राहक और व्यवसाय दोनों घबरा जाते हैं, जिससे खर्च में देरी, बंद पड़े कारखाने, लागत में कटौती और छंटनी की जाती है।

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल बिजनेस साइकिल फंड एक इक्विटी केंद्रित फंड है जो आर्थिक चक्र के विभिन्न चरणों के आधार पर कंपनियों में निवेश करता रहता है। ऐसे फंड में, फंड मैनेजर आर्थिक चक्र के किसी खास चरण से उत्पन्न होने वाले अवसरों का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिए विभिन्न क्षेत्रों और शेयरों में निवेश का निर्णय लेता है। यह फंड इस थीम पर आधारित सबसे शुरुआती फंडों में से एक था।

यदि किसी निवेशक ने 18 जनवरी, 2021 को इस फंड में एक लाख रुपये का निवेश किया था, तो एक जनवरी, 2024 तक उस निवेश का मूल्य 1.93 लाख रुपये हो गया, यानी 24.96 फीसदी का सालाना चक्रवृद्धि (सीएजीआर) रिटर्न। स्कीम के बेंचमार्क निफ्टी 500 टीआरआई में यही रकम 1.66 लाख रुपये रही, यानी केवल 12.59 फीसदी का सीएजीआर रिटर्न मिला है।

एसआईपी की बात करें तो 10,000 रुपये का मासिक निवेश कुल 3.60 लाख रुपये हुआ, लेकिन इसका मूल्य बढ़कर 5.23 लाख रुपये हो गया होगा। 26.84 फीसदी का सीएजीआर रिटर्न। निफ्टी 500 टीआरआई में समान निवेश पर 20.96 फीसदी का सीएजीआर रिटर्न मिला है। पिछले एक साल में फंड ने निफ्टी 500 टीआरआई के 27 फीसदी की तुलना में 32.86% का रिटर्न दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *