मीरा भायंदर पर था पुर्तगालियों का शासन, इस तरह से पड़ा था मीरा रोड नाम 

मुंबई- मुंबई का मीरा रोड इन दिनों सुर्खियों में है। मीरा रोड के सुर्खियों में रहने के पीछे वजह यहां अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दिन हुई हिंसा है। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले यहां दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई थी। इस हिंसा के बाद मीरा रोड में तनावपूर्ण स्थिति है।  

मीरा रोड पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है। भले ही मीरा रोड अभी हिंसा के लिए सुर्खियों में हो लेकिन इसका इतिहास बहुत रोचक है। जिस समय भारत में अंग्रेजों का शासन था उस वक्त मीरा भयंदर और वसई क्षेत्र पर पुर्तगालियों का शासन था। बाद में अंग्रेजों ने यहां शासन किया।

मीरा रोड भारत के महाराष्ट्र में एक शहर है, जो मुंबई महानगर क्षेत्र का हिस्सा है। यह मुंबई के उत्तर में स्थित है। यह मीरा-भयंदर नगर निगम (एमबीएमसी) द्वारा शासित है। इसमें मुंबई उपनगरीय रेलवे की पश्चिमी लाइन पर एक रेलवे स्टेशन भी है। जिस समय भारत आजाद हुआ इस वक्त मीरा-भयंदर क्षेत्र एक ग्राम पंचायत का हिस्सा था। इसमें मुख्य रूप से कृषि भूमि थी। जहां चावल की खेती की जाती थी।  

1980 तक यहां बिल्डरों ने कृषि भूमि खरीदनी शुरू कर दी। इसके साथ यहां टाउनशिप विकसित करना शुरू कर दिया। मीरा भयंदर नगर परिषद की स्थापना 12 जून 1985 को पांच ग्राम पंचायतों को एकीकृत करके की गई थी। इसमें मीरा ग्राम पंचायत भी शामिल थी। जहां से इसे मीरा रोड का नाम मिला।

एक समय था जब मीरा रोड भाइंदर में घर लेने से लोग कतराते थे,क्योंकि यहां पानी, बिजली सहित तमाम जनोपयोगी सुविधाओं की कमी थी। लेकिन अब बड़ी संख्या में लोगों ने मुंबई के विभिन्न उपनगरों से पलायन करके मीरा-भाइंदर में ही अपना आशियाना बनाया। इसकी सबसे बड़ी वजह मुंबई की तुलना में यहां घरों की कीमतों में कमी रही है। 

मीरा रोड में वो सभी सुविधाए मिलती है जो मुंबई जैसे शहरों में मिलती है। मीरा रोड में कई मशहूर टीवी सितारे रहते हैं। सीआईडी शो की शूटिंग कई सालों से मीरा रोड में होती आ रही है। मीरा रोड में बड़ी संख्या में गुजराती लोग रहते हैं। टाटा पावर और रिलायंस एनर्जी, एमटीएनएल टेलीकॉम सेवाओं और बेस्ट बस सेवाओं से बिजली जो आम तौर पर शहर को प्रदान की जाती है, इस क्षेत्र को भी प्रदान की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *