हर साल पांच करोड़ पर्यटक आ सकते हैं अयोध्या, ये है जेफरीज की रिपोर्ट 

मुंबई-विदेशी ब्रोकरेज फर्म जेफरीज Jefferies ने एक रिपोर्ट में कहा है कि अयोध्या के रूप में भारत को एक नया पर्यटन स्थल मिला है। वहां सही तरीके से सुविधाएं विकसित हुईं तो वह हर साल पांच करोड़ से अधिक पर्यटकों को आकर्षित कर सकता है। 

ऐतिहासिक शहर अयोध्या में इस समय करीब 10 अरब डॉलर के निवेश से मेकओवर चल रहा है। इसमें एक हवाईअड्डा, विशालकाय रेलवे स्टेशन, न्यू टाउनशिप, बेहतर सड़क कनेक्टिविटी आदि शामिल है। उस शहर में कई नए होटल भी खुल रहे हैं। इसी के साथ वहां मॉल और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर का भी डेवलपमेंट होगा। इन सब का वहां की अर्थव्यवस्था पर मल्टीप्लायर इफेक्ट होगा और अन्य आर्थिक गतिविधियों के साथ कई गुना प्रभाव डालेगा। यह पर्यटन के लिए बुनियादी ढांचे से प्रेरित विकास के लिए एक खाका भी तैयार कर सकता है। 

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अयोध्या भारत के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए एक टेम्पलेट है। वहां चल रहा 10 अरब डॉलर का मेकओवर अब प्राचीन शहर को एक उनींदे शहर से एक वैश्विक धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटक हॉटस्पॉट में बदलने के लिए तैयार है। वहां करीब 22.5 करोड़ डॉलर के निवेश से नया राम मंदिर बनाया जा रहा है। इससे पर्यटन बढ़ने और अयोध्या में आर्थिक और धार्मिक प्रवास बढ़ने का अनुमान है। इससे होटल, एयरलाइंस, हॉस्पिटेलिटी, एफएमसीजी के साथ साथ कई इंडस्ट्री को लाभ होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

अयोध्या में इस समय नए हवाई अड्डा को कई चरणों में विकसित करने पर काम चल रहा है। अयोध्या एयरपोर्ट के फज वन का काम पूरा हो गया है। इसमें करीब 17.5 करोड़ डॉलर का निवेश हुआ है। इस यसमय यह हवाई अड्डा 10 लाख यात्रियों को संभाल सकता है। इसका विस्तार भी चल रहा है जो कि डोमेस्टिक एवं इंटरनेशनल, दोनों में है। इसके साल 2025 में पूरा होने की संभावना व्यक्त की गई है। इसके पूरा हो जाने के बाद अयोध्या के एयरपोर्ट पर साल में 60 लाख पैसेंजर्स के हैंडलिंग की कैपिसिटी हो जाएगी। 

अयोध्या में पहले एक छोटा सा रेलवे स्टेशन था। अयोध्या के मुकाबले वहां का फैजाबाद रेलवे स्टेशन ज्यादा बड़ा था। राम मंदिर के उद्घाटन से पहले ही अयोध्या में नए रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग का निर्माण किया गया है। अब इस रेलवे स्टेशन में हर रोज 60,000 यात्रियों की हैंडलिंग क्षमता हो गई है।

अयोध्या में सरयू नदी के किनारे एक ग्रीनफील्ड टाउनशिप की योजना भी तैयार हो गई है। पिछले दिनों ही खबर आई थी कि इसी टाउनशिप में बालीवुड अभनेता अमिताभ बच्चन ने कई करोड़ रुपये के निवेश से प्लॉट लिया है। इस टाउनशिप में अन्य लोगों के लए भी प्लॉट की बिक्री जारी है। यह ग्रीनफील्ड 1200 एकड़ क्षेत्र में फैली होगी। इसकी के साथ अयोध्या को देश के विभिन्न हिस्सों से सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए कनेक्टिविटी भी बढ़ाई जा रही है। 

भारतीय अर्थव्यवस्था में पर्यटन का योगदान बहुत ज्यादा है। कोरोना काल से पहले देखें तो साल 2018-19 में पर्यटन क्षेत्र ने जीडीपी में 194 अरब डॉलर का योगदान दिया था। इसके वित्त वर्ष 2032-33 तक 8 प्रतिशत सीएजीआर से बढ़कर 443 अरब डॉलर होने की उम्मीद है। वैसे भी भारत में टूरिज्म टू जीडीपी रेशियो सकल घरेलू उत्पाद का 6.8 प्रतिशत है। यहां धार्मिक पर्यटन का भी आकार काफी बड़ा है और यह देश के करीब हर राज्यों में फैला हुआ है। तभी तो कई धार्मिक पर्यटन स्थलों पर साल में तीन करोड़ तीर्थयात्री तक पहुंचते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *