आईसीआईसीआई बैंक को दिसंबर तिमाही में 10,272 करोड़ रुपये का फायदा 

मुंबई- आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) का अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में शुद्ध फायदा 23.5 फीसदी उछलकर 10272 करोड़ रुपये रहा है। प्राइवेट सेक्टर के बैंक की शुद्ध ब्याज आय (NII) भी 13.4 फीसदी बढ़कर 18678 करोड़ रुपये हो गई है। एक साल पहले की सामान अवधि में यह आंकड़ा 16465 करोड़ रुपये रहा था। 

देश के दूसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक आईसीआईसीआई ने बताया कि दिसंबर, 2023 में समाप्त हुई तिमाही में उसका लाभ 10272 करोड़ रुपये रहा है। एक साल पहले की सामान अवधि में यह आंकड़ा 8312 करोड़ रुपये रहा था। इसके अलावा बैंक का कुल एनपीए (NPA) भी तीसरी तिमाही में घटकर 2.30 फीसदी पर आ गया। सितंबर तिमाही में बैंक का एनपीए 2.48 फीसदी था। साथ ही शुद्ध एनपीए भी तीसरी तिमाही में 0.44 फीसदी रहा, जो कि दूसरी तिमाही में 0.43 फीसदी रहा था। एक साल पहले की तीसरी तिमाही में बैंक का शुद्ध एनपीए 0.55 पर था। 

आईसीआईसीआई ने तीसरी तिमाही में उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है। विशेषज्ञों का अनुमान था कि बैंक को दिसंबर तिमाही में 10025 करोड़ रुपये का शुध्द लाभ होगा। बैंक ने इस तिमाही में जबरदस्त लोन वृद्धि हासिल की है। हालांकि, बैंक का शुद्ध ब्याज लाभ (NIM) लगातार चौथी तिमाही में घटा है। बैंक का शुद्ध ब्याज लाभ 4.43 फीसदी रहा है। यह पिछली तिमाही में 4.53 फीसदी और पिछले वित्त वर्ष की सामान तिमाही में 4.65 फीसदी रहा था। 

भारतीय बैंक पिछले कुछ महीनों से लगातार बढ़ती मांग के चलते दोहरे अंकों में लोन ग्रोथ को हासिल कर रहा है। मगर डिपॉजिट की बढ़ती लागत के चलते उसका लाभ कम हुआ है। आईसीआईसीआई बैंक के कुल लोन सालाना आधार पर 18.8 फीसदी बढ़ गए हैं साथ ही डिपॉजिट्स में भी 18.7 फीसदी का इजाफा हुआ है। 

बैंक की शुद्ध ब्याज आय 13.4 फीसदी बढ़कर 186.78 अरब रुपये हो गई है। साथ ही बैंक की एसेट क्वालिटी में भी सुधार हुआ है। रिजल्ट घोषित होने से पहले शनिवार को बैंक के शायर 1 फीसदी बढ़कर बंद हुए। इस हफ्ते की शुरुआत में देश के सबसे बड़े निजी बैंक एचडीएफसी ने भी अपने तिमाही नतीजे घोषित किए थे। उसका लाभ लगातार दूसरी तिमाही में कमजोर रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *