सरकारी कंपनियों के शेयरों ने एक साल में एक लाख को बनाया दो लाख रुपये 

मुंबई- पिछला एक साल में बाजार में कुल 32 सरकारी शेयरों ने मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। मतलब 32 सरकारी शेयरों का एक साल का रिटर्न कम से कम 100 फीसदी है। 16 जनवरी तक के आंकड़ों के अनुसार, पिछले एक साल में सरकारी शेयरों में सबसे शानदार प्रदर्शन आईआरएफसी का रहा है, जिसने इस अवधि में करीब 330 फीसदी का रिटर्न दिया है। इसका मतलब हुआ कि इस शेयर ने बीते एक साल में अपने निवेशकों के पैसे को 4 गुने से भी ज्यादा बनाया है। 

वहीं बाजार में इसके अलावा 10 सरकारी शेयरों ने बीते एक साल के दौरान कम से कम 200 फीसदी का रिटर्न दिया है। बीते एक साल में सीपीसीएल ने 272 फीसदी का, आरईसी लिमिटेड ने 255 फीसदी का, आईटीआई ने 253 फीसदी का, पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन और इरकॉन इंटरनेशनल दोनों ने 232 फीसदी का, कोचिन शिपयार्ड ने 217 फीसदी का, गुजरात स्टेट फाइनेंस ने 215 फीसदी का, मझगांव डॉक ने 202 फीसदी का, एमआरपीएल ने 201 फीसदी का और एमएसटीसी ने 200 फीसदी का रिटर्न दिया है।

मल्टीबैगर शेयर उन शेयरों को कहा जाता है, जिन्होंने एक तय अवधि में कम से कम 100 फीसदी का रिटर्न दिया हो. बीते एक साल के दौरान 100 फीसदी से ज्यरदा रिटर्न देने वाले अन्य सरकारी शेयरों में जीएमडीसी, एसजेवीएन, रेल विकास, एनएलसी इंडिया, रेलटेल कॉरपोरेशन, स्कूटर्स इंडिया, एफएसीटी, इंजीनियर्स इंडिया, पीटीसी इंडिया फाइनेंस, हुडको, भेल, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स, जेएंडके बैंक, एनबीसीसी, ड्रेजिंग कॉरपोरेशन, ओरिसा मिनरल्स, पीटीसी इंडिया, जीएसएफसी, हिंदुस्तान कॉपर, बीईएमएल और बॉमर लॉरी शामिल हैं। इन शेयरों ने बीते एक साल के दौरान 100 फीसदी से 196 फीसदी तक का रिटर्न दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *