फ्लाइट देरी होने पर व्हाट्सएप से ग्राहकों को कंपनियों को देनी होगी सूचना 

मुंबई- घने कोहरे के कारण राजधानी दिल्ली समेत कई शहरों में हवाई यात्रा प्रभावित हुई है। दिल्ली में रविवार को कम दृश्यता के कारण कुल 10 उड़ानों का मार्ग बदला गया और लगभग 100 उड़ानों में विलंब हुआ। साथ ही कुछ उड़ानों को कैंसल कर दिया गया। इससे यात्रियों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ा।  

दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ान में देरी की घोषणा कर रहे इंडिगो के पायलट पर एक पैसेंजर ने हमला कर दिया। इस बीच डीजीसीए ने खराब मौसम के कारण उड़ानों के कैंसिल होने के संबंध में गाइडलाइन जारी की है। उसका कहना है कि इस बारे में यात्रियों को सटीक जानकारी एसएमएस, वॉट्सऐप या ईमेल के जरिए दी जानी चाहिए। सभी एयरलाइन कंपनियों को तुरंत प्रभाव से इसका पालन करने को कहा गया है।

डीजीसीए ने एयरलाइंस से उड़ान में देरी के संबंध में सटीक वास्तविक समय की जानकारी प्रकाशित करने और हवाई अड्डों पर कोहरे से संबंधित व्यवधानों के बीच यात्रियों के साथ उचित रूप से संवाद करने के लिए हवाई अड्डों पर कर्मचारियों को संवेदनशीलता से पेश आने की जरूरत पर जोर दिया। बड़ी संख्या में उड़ानों में देरी और उनके रद्द होने तथा यात्रियों के मुश्किलों का सामना करने की घटनाओं के सामने आने के बाद डीजीसीए कई एसओपी लेकर आया है डीजीसीए ने कहा कि एयरलाइन को अपनी उड़ानों में देरी के संबंध में सटीक वास्तविक समय की जानकारी प्रकाशित करनी चाहिए।

हवाई अड्डों पर एयरलाइन कर्मचारियों को उचित रूप से संवाद करने और उड़ान में देरी के बारे में यात्रियों का लगातार मार्गदर्शन और सूचित करने के लिए संवेदनशील होना चाहिए। डीजीसीए ने कहा कि मौजूदा कोहरे और विपरीत मौसमी परिस्थितियों को देखते हुए हवाई अड्डे पर भीड़भाड़ को कम करने और यात्रियों की असुविधा को कम करने की दृष्टि से एयरलाइन ऐसी उड़ानों को पर्याप्त समय पहले ही रद्द कर सकती हैं जिनमें ऐसी स्थितियों (खराब मौसम) के कारण तीन घंटे से अधिक की देरी होने की आशंका हो। 

दिल्ली हवाई अड्डे सहित विभिन्न हवाई अड्डों पर कोहरे के कारण होने वाले व्यवधान और प्रतिकूल मौसम की स्थिति के कारण देरी, टिकट रद्द करवाने और यात्रियों को असुविधा होने के कारण एसओपी जारी की गई है। इससे पहले सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि उड़ान संचालन में कोहरे से संबंधित व्यवधानों को कम करने के लिए सभी स्टेकहोल्डर्स चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *