मुंबई बनेगी न्यूयार्क, ये हैं पांच इन्फ्रा के प्लान, जानिए कैसे होगा यह पूरा 

मुंबई- देश की आर्थिक राजधानी मुंबई इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में दुनिया के अग्रणी शहरों में शामिल होने को बेकरार है। शहर में इस समय कई मेगा प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं और कई पूरे हो चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में अटल सेतु का उद्घाटन किया जो मुंबई को नवी मुंबई से जोड़ता है। इसी तरह शहर में कोस्टल रोड, बुलेट ट्रेन और नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट समेत कई प्रोजेक्ट अंडर कंस्ट्रक्शन हैं। ये प्रोजेक्ट मुंबई को इन्फ्रास्ट्रक्चर के मामले में दुनिया के अगली जमात के शहरों में शामिल कर देंगे।  

मुंबई में ट्रैफिक जाम से मुक्ति दिलाने के लिए बीएमसी 29.2 किमी लंबी कोस्टल रोड बना रहा है। इस प्रोजेक्ट के नवंबर 2023 में शुरू होने की संभावना थी लेकिन अब इसका पहला फेज एक साल बाद यानी मई 2024 में शुरू होने का अनुमान है। इस प्रोजेक्ट की लागत 12,000 करोड़ रुपये है। वर्ली और मरीन ड्राइव के बीच अंडरसी टनल के 31 जनवरी तक खुलने की उम्मीद है। इसमें साइकिल ट्रैक, जॉगिंग एरिया, ओपन ऑडिटोरियम, बटरफ्लाई गार्डन और दूसरी कई तरह की सुविधाओं होंगी। 

नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्रोजेक्ट का विकास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और सिटी इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन ऑफ महाराष्ट्र द्वारा किया जा रहा है। सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया का कहना है कि इससे कमर्शियल ऑपरेशन अगले साल मार्च में शुरू होने की उम्मीद है। यह पूरा प्रोजेक्ट 2031 में शुरू होने की संभावना है। इस प्रोजेक्ट पर 16,7000 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है। इससे मुंबई के एयरपोर्ट पर भी दवाब कम होगा। 

देश की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना मुंबई और अहमदाबाद के बीच विकसित की जा रही है। यह प्रोजेक्ट नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन बना रहा है। इसका पहला फेज 2026 में शुरू होने की उम्मीद है। इस परियोजना की कुल लागत 1.1 लाख करोड़ रुपये है। गुजरात और महाराष्ट्र में भूमि अधिग्रहण का काम लगभग पूरा हो चुका है। इस प्रोजेक्ट पर गुजरात में इस पर तेजी से काम चल रहा है।

ऐरोली-कटाई टनल और ऐरोली-कल्याण-शिल कॉरिडोर का निर्माण एमएमआरडीए करवा रही है। टनल रोड 17 किमी लंबी और कॉरिडोर 33.8 किमी लंबा है। इस प्रोजेक्ट पर करीब 945 करोड़ रुपये खर्च आने का अनुमान है। इस प्रोजेक्ट को तीन चरणों में बनाया जा रहा है और इस पर काम इसी साल पूरा होने की उम्मीद है। इस रोड के बनने से डोंबीवली ईस्ट, कल्याण-शिल रोड और नवी मुंबई के लोगों को फायदा होगा। 

इसका निर्माण बीएमसी कर रही है। छह लेन की 12 किमी लंबी यह सड़क शहर के पश्चिमी हिस्से को पूर्व हिस्से से जोड़ेगी। इसके दिसंबर 2026 में खुलने की संभावना है। इस प्रोजेक्ट पर 6,225 करोड़ रुपये खर्च आने का अनुमान है। इस प्रोजेक्ट को चार चरणों में पूरा किया जा रहा है। इसके पूरी तरह तैयार होने का बाद गोरेगांव से मुलुंड के बीच यात्रा के समय में 20 मिनट की कमी आएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *