आम लोगों पर महंगाई की मार, दिसंबर में महंगाई चार महीने के शीर्ष पर  

मुंबई- भारत की रिटेल महंगाई दिसंबर में बढ़कर 5.69% पर पहुंच गई है। यह महंगाई का 4 महीने का उच्चतम स्तर है। सिंतबर में महंगाई 5.02% रही थी। वहीं नवंबर में यह 5.55% और अक्टूबर में 4.87% रही थी। खाने-पीने के सामान की कीमतें बढ़ने से महंगाई बढ़ी है। 

नवंबर की तरह दिसंबर में भी सब्जियों की महंगाई में बड़ी बढ़ोतरी देखने को मिली है। नवंबर में सब्जियों की महंगाई 17.7% से बढ़कर 27.64% हो गई। दूसरी ओर, ईंधन और बिजली की महंगाई सिमटकर -0.99% हो गई है जो नवंबर में -0.77% थी। 

खाद्य महंगाई दर 8.70% से बढ़कर 9.53% हो गई, ग्रामीण महंगाई दर 5.85% से बढ़कर 5.93% हो गई, शहरी महंगाई दर 5.26% से बढ़कर 5.46% हो गई RBI की महंगाई को लेकर रेंज 2%-6% है। आदर्श स्थिति में RBI चाहेगा कि रिटेल महंगाई 4% पर रहे। पिछले महीने हुई मॉनेटरी पॉलिसी की मीटिंग में RBI ने चालू वित्त वर्ष के लिए रिटेल महंगाई के अनुमान को 5.40% पर बरकरार रखा था। 

महंगाई का सीधा संबंध खरीदने की शक्ति से है। उदाहरण के लिए यदि महंगाई दर 6% है, तो अर्जित किए गए 100 रुपए का मूल्य सिर्फ 94 रुपए होगा। इसलिए महंगाई को देखते हुए ही निवेश करना चाहिए। नहीं तो आपके पैसे की वैल्यू कम हो जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *