साढ़े तीन साल में इन्फोसिस के शेयरों में सबसे बड़ी तेजी, 8 प्रतिशत बढ़ा  

मुंबई-देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इन्फोसिस के शेयरों में आज आठ फीसदी से अधिक तेजी आई। बीएसई पर ट्रेडिंग के दौरान इसकी कीमत 1615 रुपये तक पहुंची। शुक्रवार को यह आठ फीसदी तेजी के साथ 1614.60 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। इन्फोसिस के शेयरों की कीमत में 16 जुलाई, 2020 के बाद यह एक दिन में आई सबसे ज्यादा तेजी है।  

इन्फोसिस ने गुरुवार को दिसंबर तिमाही का रिजल्ट घोषित किया। वित्त वर्ष 2023-24 की तीसरी तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 7.3% घटकर 6,106 करोड़ रुपये रहा। इन्फोसिस ने चालू वित्त वर्ष के लिए अपने रेवेन्यू ग्रोथ के अनुमान को संशोधित कर 1-2.5 प्रतिशत से 1.5-2 प्रतिशत कर दिया है। कंपनी के बोर्ड ने बेंगलुरु स्थित सेमीकंडक्टर डिजाइन सर्विस प्रोवाइडटर इनसेमी का करीब 280 करोड़ रुपये में अधिग्रहण करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। 

घरेलू ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल ने इन्फोसिस के शेयर को खरीदने की सलाह देते हुए इसका टारगेट प्राइस 1,750 रुपये तय किया है। इसी तरह Nuvama ने भी इन्फोसिस को खरीदने की सलाह देते हुए इसका टारगेट प्राइस 1,800 रुपये से बढ़ाकर 1,850 रुपये कर दिया। ब्रोकिंग फर्म Emkay Global ने भी इन्फोसिस के शेयर को खरीदने की सलाह देते हुए इसका टारगेट प्राइस 1,850 रुपये पर अपरिवर्तित रखा है। इन्फोसिस के शेयर का 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 1,620.00 रुपये है। पिछले साल नवंबर में यह इस स्तर पर पहुंचा था। पिछले साल 25 अप्रैल को यह 1,215.45 रुपये तक गिर गया था जो इसका 52 हफ्ते का न्यूनतम स्तर है। 

इस बीच देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस में भी चार फीसदी से अधिक तेजी आई। कारोबार के दौरान यह 3900 रुपये तक गया। 12.50 बजे यह 4.30% की तेजी के साथ 3896.70 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 3,928.95 रुपये है। इन्फोसिस और टीसीएस के शेयरों में आई तेजी से निवेशकों की नेटवर्थ में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक का इजाफा हुआ। टीसीएस के मार्केट कैप में करीब 57630.06 करोड़ रुपये की तेजी आई जबकि इन्फोसिस का मार्केट कैप 46,288.05 करोड़ रुपये बढ़ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *