एपल ने क्रिप्टोकरेंसी बिनांस को अपने स्टोर से हटाया, कुकाइन और अन्य भी हटे 

मुंबई- टेक कंपनी एपल ने दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बाइनेंस को अपने ऐप स्टोर से हटा दिया है। इसके साथ ही कंपनी ने कुकॉइन और OKX जैसे अन्य ऐप को भी हटा दिया है। 

दरअसल, 28 दिसंबर को वित्त मंत्रालय ने देश के मनी लॉन्ड्रिंग कानून का पालन नहीं करने को लेकर बाइनेंस, कुकॉइन, होबी, क्रैकन, गेट.आईओ, बिट्ट्रेक्स, बिटस्टैम्प, mexc ग्लोबल और बिटफिनेक्स को कारण बताओ नोटिस भेजा था। 

मंत्रालन ने बताया था कि ये 9 वर्चुअल डिजिटल एसेट सर्विस प्रोवाइडर्स ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है और भारत का कानून तोड़ने के साथ स्थानीय टैक्स नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। वित्त मंत्रालय ने आईटी मंत्रालय से इनकी वेबसाइटों को ब्लॉक करने के लिए कहा था। इसी के बाद एपल ने भारत में इन ऐप्स को ऐप स्टोर से हटा दिया है। 

एपल की तरह गूगल ने अभी तक इन ऐप्स को प्ले स्टोर से नहीं हटाया है। एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स इन ऐप्स को डाउनलोड करके यूज कर पा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट की माने तो गूगल भी जल्द इन ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा सकता है। 

बाइनेंस की शुरुआत 2017 में एक क्रिप्टो-एक्सचेंज हुई थी। बाइनेंस के इकोसिस्टम में कई क्रिप्टोएक्सचेंज हैं, जिसका इसने अधिग्रहण किया है और उन्हें बनाया है। इसके अलावा इसके पास खुद की क्रिप्टोकरेंसी, कई क्रिप्टो वॉलेट और नई क्रिप्टोकरेंसी को लॉन्च करने वाला एक लॉन्चपैड भी है। 

दो महीने पहले बाइनेंस के फाउंडर और CEO चांगपेंग झाओ को अपनी ही कंपनी से इस्तीफा देना पड़ा था। उन्हें अमेरिकी एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग कानून तोड़ने का दोषी पाया गया है। झाओ अगले 3 साल तक कंपनी में कोई मैनेजमेंट पोजिशन भी नहीं संभाल सकेंगे। जस्टिस डिपार्टमेंट, ट्रेजरी डिपार्टमेंट और कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमीशन सालों से कंपनी की जांच कर रहे थे 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *