ओला इलेक्ट्रिक देगी 25,000 को नौकरी, लगाएगी 2,000 एकड़ में कारखाना 

मुंबई- तमिलनाडु के कृष्णागिरी जिले में अंडर कंस्ट्रक्शन ओला इलेक्ट्रिक का नई EV मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट फुल स्केल पर चलने के बाद करीब 25,000 लोगों को नौकरी देगी। कंपनी के को-फाउंडर और CEO भाविश अग्रवाल ने  

‘2000 एकड़ में फैली इस EV हब में मैन्यूफैक्चरिंग कैपेसिटी के अलावा वेंडर और सप्लायर नेटवर्क भी होगा। हम साथ मिलकर तमिलनाडु और भारत को EV का ग्लोबल इपिसेंटर बनाएंगे।’ 

उन्होंने कहा, ‘हम तमिलनाडु में केवल आठ महीनों में भारत की सबसे बड़ी टू-व्हीलर मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटी बनाने में कामयाब रहें हैं। यहां अगले महीने से प्रोडक्शन शुरू हो जाएगा। इसकी शुरुआत भी हम रिकॉर्ड टाइम में कर रहे हैं। यह केवल भारत और तमिलनाडु में ही पॉसिबल है।’ 

भाविश ने कहा कि यह भारत की पहली गीगाफैक्ट्री होगी। जब यह फुल स्केल पर चलने लगेगी तो उम्मीद है, हर साल यहां लगभग 1 करोड़ टू-व्हीलर मैन्यूफैक्चर किए जाएंगे। पिछले साल जनवरी में ओला इलेक्ट्रिक ने राज्य में ₹7,000 करोड़ इन्वेस्ट करने के लिए तमिलनाडु सरकार के साथ MOU साइन किया था। 

पिछले साल जून में ओला इलेक्ट्रिक ने तमिलनाडु में इस मेगा फैक्ट्री के कंस्ट्रक्शन का ऐलान किया था। इसमें EV बनाने के लिए ओला फ्यूचर फैक्ट्री और दूसरे सप्लायर्स के साथ मिलकर गीगाफैक्ट्री का निर्माण किया जा रहा है। ओला इलेक्ट्रिक इस समय इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन कैटेगरी में मार्केट लीडर के तौर पर उभरी है, कंपनी की नवंबर तक मार्केट हिस्सेदारी लगभग 32% थी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *