सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में जबरदस्त तेजी, तीन माह की ऊंचाई पर 

मुंबई- भारत में सेवा क्षेत्र की गतिविधियां बेहतर आर्थिक परिस्थितियों और सकारात्मक मांग के दम पर दिसंबर में तीन महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। मौसमी रूप से समायोजित एचएसबीसी इंडिया भारत सेवा पीएमआई कारोबारी गतिविधि सूचकांक दिसंबर में 59 पर पहुंच गया। यह नवंबर में 56.9 पर था। 

खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) का 50 से ऊपर रहने का मतलब गतिविधियों में तेजी बनी हुई है। 50 से कम अंक का आशय कमजोरी से होता है। यह सर्वेक्षण सेवा क्षेत्र की करीब 400 कंपनियों के साथ सवाल-जवाब पर आधारित है। सर्वेक्षण में कहा गया मांग में उछाल से बिक्री में तेजी आई जिससे कारोबारी गतिविधियां भी बढ़ीं। रोजगार निर्माण लगातार 19वें महीने बढ़ा। इसी दौरान एचएसबीसी इंडिया कंपोजिट पीएमआई आउटपुट इंडेक्स 57.4 से बढ़कर 58.5 हो गया। 

एचएसबीसी की भारत में मुख्य अर्थशास्त्री प्रांजुल भंडारी ने कहा, भारत का सेवा क्षेत्र साल के अंत में उच्च स्तर पर रहा है। कारोबारी गतिविधियां बढ़ने और तीन महीने में सर्वाधिक ऑर्डर मिलने से ऐसा हुआ है। नए कारोबार में बढ़ोतरी को अंतरराष्ट्रीय बिक्री की लगातार वृद्धि से समर्थन मिला। सेवा प्रदाताओं को दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, यूरोप, पश्चिम एशिया और दक्षिण अमेरिका के ग्राहकों की ओर से अच्छी मांग मिली। 

दिसंबर में विनिर्माण पीएमआई 18 महीने में सबसे कम रही थी। दिसंबर में यह 57.5 से घटकर 55.5 पर आ गई थी। नए ऑर्डर कम मिलने का असर पड़ा है। इसीलिए विकास दर कुछ कम हुई है। हालांकि, अभी भी ये 50 के ऊपर है जो कि काफी बेहतर मानी जाती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *