भुगतान समस्याओं के कारण भारत ने रूस से तेल खरीदी में की भारी कमी 

मुंबई- भारत ने भुगतान समस्याओं के कारण रूस से तेल खरीदी कम कर दी है। इससे दिसंबर में रूसी तेल खरीद 11 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई है। इसके एवज में सऊदी अरब से तेल आयात को बढ़ा दिया है। रूस से सोकोल तेल ले जाने वाले पांच जहाज मलक्का जलडमरूमध्य (दो बड़े समुद्रों को मिलाने वाला समुद्र) की ओर बढ़ रहे हैं। एक अन्य जहाज जो सोकोल तेल ले जा रहा था, अभी भी श्रीलंका के पास है। 

सूत्रों के मुताबिक, सोकोल का तेल इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) को लेना था, लेकिन उसने इसे लेने से मना कर दिया। वह अब मध्य पूर्व देशों से खरीदी कर रही है। दिसंबर में रूस से भारत का तेल आयात 22 फीसदी तक गिरकर 12 लाख बैरल प्रतिदिन पर पहुंच गया है। यह जनवरी, 2023 के बाद से सबसे निचला स्तर है। सऊदी से खरीदी में चार फीसदी की तेजी आई है। 

भुगतान के मुद्दों के कारण भारतीय रिफाइनर्स को कोई भी सोकोल कार्गो नहीं मिल रहा है। अमेरिका के एक अधिकारी ने कहा कि रूस पर कच्चे तेल की सीमा को और मजबूत किया जाएगा। यूक्रेन युद्ध के बाद पश्चिमी देशों ने रूसी तेल पर 60 डॉलर प्रति बैरल की सीमा लगा दी थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *