मार्च तक एनबीएफसी का वाहन कर्ज बढ़कर होगा 8.1 लाख करोड़ रुपये 

मुंबई। गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (एनबीएफसी) का मार्च तक वाहन क्षेत्र को दिए जाने वाले कर्ज का आकार बढ़कर 8.1 लाख करोड़ रुपये होने की उम्मीद है। मार्च, 2023 तक यह 5.9 लाख करोड़ रुपये था। 

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने एक रिपोर्ट में शुक्रवार को कहा कि वाणिज्यिक वाहनों, कार, यूटिलिटी वाहनों और दोपहिया के साथ तिपाहिया वाहनों की बढ़ती मांग से कर्ज उठाव में तेजी आएगी। साथ ही सरकार लगातार इन्फ्रा पर भी खर्च कर रही है। ज्यादा कर्ज से इसके पुनर्भुगतान में बेहतरी होगी जिससे कंपनियों के बुरे फंसे कर्जों में भी सुधार होगा। 

क्रिसिल ने कहा, कुल वाहनों में वाणिज्यिक वाहनों की हिस्सेदारी मार्च, 2023 तक 50 फीसदी थी। कारों और यूटिलिटी वाहनों की हिस्सेदारी 29 फीसदी, दोपहिया व तिपहिया की 11 फीसदी और ट्रैक्टर की 10 फीसदी थी। 2025 तक वाणिज्यिक वाहनों में 12-14 फीसदी सालाना बढ़त की उम्मीद है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *