बैंकों और एनबीएफसी के खिलाफ छह माह में मिलीं 1.44 लाख शिकायतें 

मुंबई- बैंकों और एनबीएफसी के खिलाफ लगातार शिकायतें बढ़ रही हैं। आरबीआई की वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट के मुताबिक, बैंकों और एनबीएफसी सहित अन्य वित्तीय संस्थानों के खिलाफ सितंबर तक 1.44 लाख शिकायतें मिलीं हैं। इसमें सबसे ज्यादा 24 फीसदी शिकायतें कर्ज को लेकर हैं। इस दौरान कुल 146 बैंकों पर कार्रवाई की गई है जिन पर 57.07 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसमें 9 सरकारी बैंक, 6 निजी बैंक सहित अन्य बैंक हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल से जून के दौरान कुल 69,120 शिकायतें मिलीं थीं। जबकि जुलाई से सितंबर के दौरान 75,280 शिकायतें मिलीं थीं। अप्रैल से जून के दौरान 24 फीसदी यानी 16,607 शिकायतें कर्ज को लेकर उचित व्यवहार संहिता का पालन नहीं करने से संबंधित थीं। जुलाई-सितंबर तिमाही में यह संख्या में तो बढ़कर 17,732 हो गई, पर फीसदी में घटकर 23.5 फीसदी रह गई। 

इसी तरह से अप्रैल जून में मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग से संबंधित 18 फीसदी यानी 12,604 शिकायतें मिलीं जो जुलाई सितंबर में घटकर 16.73 यानी 12,588 रह गई। अन्य उत्पाद और सेवाओं से संबंधित शिकायतें इसी दौरान 14.69 फीसदी (10,154) से बढ़कर 17.43 फीसदी (13,129) हो गईं। क्रेडिट कार्ड से संबंधित शिकायतों की संख्या अप्रैल-जून में 10,040 (14.53 फीसदी) रहीं जो जुलाई-सितंबर में बढ़कर 10,193 हो गई लेकिन फीसदी में यह कम होकर 13.54 फीसदी हो गई। 

रिपोर्ट के अनुसार जमा खातों के खोलन और उनके परिचालन से संबंधित 9,081 शिकायतें अप्रैल से जून के दौरान मिलीं थीं जो जुलाई-सितंबर में बढ़कर 9,371 हो गई। एटीएम डेबिट कार्ड के खिलाफ 6,651 शिकायतें यानी 9.62 फीसदी रहीं जो बढ़कर 7,686 हो गईं यानी 10.21 फीसदी रहीं। पेंशन के खिलाफ 1084 शिकायतें मिलीं थीं और यह जुलाई-सितंबर में घटकर 928 रह गईं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *