पांच वर्षों में रिलायंस के शेयरों ने निवेशकों को दिया सबसे ज्यादा मुनाफा

मुंबई-रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) पांच साल (2018-2023) की अवधि में लगातार पांचवीं बार अपने निवेशकों के लिए सबसे बड़ी वेल्थ क्रिएटर कंपनी के रूप में उभरी है। मुंबई बेस्ड ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल ने 14 दिसंबर को जारी अपनी 28वीं एनुअल वेल्थ क्रिएशन स्टडी रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी है।

मोतीलाल ओसवाल ने बताया कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 2018 से 2023 की अवधि (31 मार्च 2023 तक) में 9.63 लाख करोड़ रुपए जोड़े हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक, लिस्ट में टॉप 100 कंपनियों द्वारा बनाई गई टोटल वेल्थ में रिलायंस का योगदान 13.7% है। 

सबसे ज्यादा वेल्थ क्रिएशन के मामले में रिलांयस के अलावा टॉप 5 कंपनियों में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS), ICICI बैंक, इंफोसिस और भारती एयरटेल शामिल हैं। इन कंपनियों ने भी अपने निवेशकों को सबसे ज्यादा मुनाफा कराया है। 

इसके बाद वेल्थ क्रिएशन कंपनियों की लिस्ट में अगली पांच कंपनियां हिंदुस्तान यूनिलीवर, भारतीय स्टेट बैंक (SBI), बजाज फाइनेंस, अडाणी एंटरप्राइजेज और HCL टेक्नोलॉजीज हैं। यहां वेल्थ क्रिएशन का मतलब पिछले पांच सालों में कंपनियों के मार्केट कैप में बढ़ोतरी से है। 

पिछले 5 सालों में रिलायंस के स्टॉक ने अपने निवेशकों को दिया 123% रिटर्न 

रिपोर्ट के अनुसार, रिलायंस ग्रुप ने पिछले 17 सालों में सालाना जारी होने वाली सबसे बड़ी वेल्थ क्रिएटर कंपनियों की लिस्ट में 10 बार नंबर-1 पोजिशन हासिल की है। हालांकि, RIL के शेयरों में साल 2023 में अब तक 4.5% की गिरावट आई है और पिछले साल इसमें करीब 6% की गिरावट आई थी। पिछले 5 सालों में स्टॉक ने 123% का रिटर्न अपने निवेशकों को दिया है। 

यह दशक रिलायंस के लिए बदलाव का दशक रहा है। 2014 में यह एनर्जी सेक्टर की दिग्गज कंपनी थी। आज यह देश की सबसे बड़ी रिटेल चेन है, सब्सक्राइबर बेस के आधार पर सबसे बड़ी टेलीकॉम ऑपरेटर है और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सहित कई सेक्टर्स में इसका बड़ा निवेश है। अक्टूबर में रिलायंस का जुलाई से सितंबर तिमाही में मुनाफा तिमाही आधार पर करीब 9% बढ़कर 17,394 करोड़ रुपए रहा। वहीं, रेवेन्यू 12% से ज्यादा बढ़कर 255,996 करोड़ रुपए रहा। 

लगातार मुनाफा देने में अडाणी एंटरप्राइजेज 78% के प्राइस CAGR के साथ नंबर-1 पर रही। कैप्री ग्लोबल और वरुण बेवरेजेस 50% के प्राइस CAGR के साथ दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं। CAGR यानी कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट।

इसके अलावा ऑल-राउंड वेल्थ क्रिएटर्स की लिस्ट में अडाणी एंटरप्राइजेज 78% के प्राइस CAGR के साथ नंबर-1 पर रही। वहीं 63% प्राइस CAGR के साथ ट्यूब इन्वेस्टमेंट्स दूसरे नंबर पर रही। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *