एलआईसी का शेयर एक माह में 33 फीसदी बढ़ा, पेटीएम 31 फीसदी टूटा 

मुंबई- देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी (LIC) का शेयर इस साल पहली बार 800 रुपये के पार पहुंच गया है। बुधवार को इसमें कारोबार के दौरान दो परसेंट से अधिक तेजी आई और यह 810 रुपये पर पहुंच गया। यह इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है। बीएसई पर यह 1.65% की तेजी के साथ 804.70 रुपये पर बंद हुआ। पिछले एक महीने में इसकी कीमत में 33 फीसदी तेजी आई है। 

हालांकि यह अब भी अपने इश्यू प्राइस 949 रुपये से नीचे ट्रेड कर रहा है। कंपनी 21,000 करोड़ रुपये का इश्यू लाई थी जो अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ है। कई ब्रोकरेज कंपनियों ने अपने ग्राहकों को एलआईसी का शेयर खरीदने की सलाह दी है। इस कारण कंपनी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है। कंपनी ने हाल में एक नई पॉलिसी जीवन उत्सव स्कीम भी लॉन्च की है। जियोजित फाइनेंशियल ने कहा कि कंपनी लगातार अपने प्रॉडक्ट मिक्स को डाइवर्सिफाई कर रही है। 

पिछले महीने ब्रोकरेज ने एलआईसी के शेयर का टारगेट प्राइस बढ़ाकर 823 रुपये कर दिया था। वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में एलआईसी की ग्रॉस प्रीमियम इनकम 18.7 परसेंट की गिरावट के साथ 107,947 करोड़ रुपये रही। इसकी सबसे बड़ी वजह सिंगल प्रीमियम में 43.3 परसेंट गिरावट रही। इस दौरान कंपनी का फर्स्ट ईयर प्रीमियम 9.3 परसेंट बढ़कर 10,032 करोड़ रुपये रहा जबकि रिन्यूअल प्रीमियम 6.1 परसेंट बढ़कर 59,961 करोड़ रुपये पहुंच गया। 

उधर, वन97 कम्युनिकेशंस यानी पेटीएम के शेयर (Paytm Share Price) में लगातार गिरावट देखी जा रही है। बुधवार को यह शेयर 2.44 फीसदी या 15.05 रुपये की गिरावट के साथ 601.45 रुपये पर बंद हुआ। पिछले सत्र में यह 6 फीसदी से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुआ था। दिसंबर महीना अभी आधा भी नहीं गुजरा है और यह शेयर इस दौरान 31 फीसदी गिर गया है।  

इस महीने में 9 कारोबारी दिनों में से 8 में पेटीएम ने निगेटिव रिटर्न दिया है। नवंबर में भी पेटीएम का शेयर 5 फीसदी गिरा था। इस तरह यह शेयर अपने 998.30 रुपये के एक साल के ऊपरी स्तर से करीब 40 फीसदी टूट चुका है। 20 अक्टूबर, 2023 को यह शेयर 52 वीक हाई पर गया था। 

पेटीएम के छोटे लोन्स और बाय नाउ-पे लेटर बिजनस में बदलाव की घोषणा के बाद यह एक बड़ी गिरावट है। पेटीएम की बिजनस स्ट्रैटेजी की चुनौतियां और बदलाव इन्वेस्टर कांफिडेंस को प्रभावित कर रहे हैं। इसके चलते कंपनी के शेयर में गिरावट देखने को मिल रही है। अब सवाल यह है कि इस शेयर को क्या अब खरीदा जा सकता है। आइए जानते हैं कि ब्रोकरेज फर्म्स की क्या राय है। 

मौजूदा गिरावट के बावजूद एक साल में यह शेयर 17 फीसदी चढ़ा है और साल 2023 में अब तक इसमें 12 फीसदी का उछाल देखा जा सकता है। कई ब्रोकरेज फर्म्स ने इस शेयर के लिए 830 से 1120 रुपये तक का टार्गेट प्राइस दिया है। 

मोतीलाल ओसवाल ने शेयर पर अपना पॉजिटिव व्यू बरकरार रखा है। लेकिन अपने टार्गेट प्राइस को गिराकर 1025 कर दिया है। इस अनुसार इस शेयर में 71 फीसदी का बड़ा पॉजिटिव अपसाइड है। जेएम फाइनेंशियल का पेटीएम के शेयर पर बुलिश व्यू है। इस ब्रोकरेज फर्म ने पेटीएम के शेयर के लिए 1120 रुपये का सबसे अधिक टार्गेट प्राइस दिया है। इस तरह इस शेयर में 86 फीसदी का मजबूत अपसाइड पोटेंशियल है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *