एक साल में टाटा समूह ने निवेशकों को किया मालामाल, 25 पर्सेंट का रिटर्न

मुंबई- शेयर बाजार में तेजी से निवेशकों की चांदी हो रही है। सबसे ज्यादा कमाई टाटा ग्रुप के निवेशकों की हुई है। देश के सबसे बड़े औद्योगिक घराने टाटा ग्रुप की कंपनियों का मार्केट कैप 24 सितंबर, 2021 से करीब छह लाख करोड़ रुपये बढ़ा है। उस दिन सेंसेक्स ने 60,000 अंक का आंकड़ा छुआ था। तबसे टाटा ग्रुप की कंपनियों ने करीब 25% रिटर्न दिया है।  

टाटा ग्रुप की 26 लिस्टेड कंपनियों में से टाटा इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन ने इस दौरान सबसे ज्यादा 227 परसेंट रिटर्न दिया है। इस लिस्ट में अडानी ग्रुप दूसरे नंबर पर है। इस ग्रुप की 10 लिस्टेड कंपनियों ने इस दौरान 42% रिटर्न के साथ निवेशकों की वेल्थ में 4.3 लाख करोड़ रुपये का इजाफा किया। 

इस लिस्ट में सुनील मित्तल की अगुवाई वाला भारती ग्रुप तीसरे, साउथ का मुरुगप्पा ग्रुप चौथे और आदित्य बिड़ला ग्रुप पांचवें नंबर पर रहा। हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट के बावजूद अडानी ग्रुप बड़ा वेल्थ क्रिएटर बनकर उभरा है। ग्रुप की किसी भी कंपनी ने इस दौरान निगेटिव रिटर्न नहीं दिया है। अडानी पावर के शेयर की कीमत में इस दौरान पांच गुना से अधिक तेजी आई। हालांकि मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज और बजाज ग्रुप ने इस दौरान सेंसेक्स के कमजोर प्रदर्शन किया है। पिछले 2.2 साल में सेंसेक्स में 16 परसेंट तेजी आई है। 

मुरुगप्पा के अलावा चार अन्य ग्रुप ने इस दौरान 100% से अधिक रिटर्न दिया है। वेणु श्रीनिवासन के टीवीएस ग्रुप ने 226 परसेंट और रवि जयपुरिया ग्रुप ने 204 परसेंट रिटर्न दिया। मुरुगप्पा ग्रुप की नौ लिस्टेड कंपनियों ने 119% रिटर्न के साथ निवेशकों की वेल्थ में 1.8 लाख करोड़ रुपये का इजाफा किया। सीजी पावर ने पिछले 2.2 साल में 375% रिटर्न दिया है। इस कंपनी को मुरुगप्पा ने साल 2020 में खरीदा था। मुरुगप्पा ग्रुप ने नकदी से जूझ रही इस कंपनी को कर्जमुक्त किया और शेयरहोल्डर्स को डिविडेंड दिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *