आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इक्विटी-डेट फंड में एक लाख का निवेश बना 29.33 लाख 

मुंबई- आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इक्विटी एंड डेट फंड एक आक्रामक हाइब्रिड फंड (पूर्व में बैलेंस्ड फंड) ने लगातार अच्छे  परफॉरमेंस से अपने निवेशकों को सौगात दे रहा है। फंड का एयूएम 26,272 करोड़ रुपये है। सेबी के स्कीम वर्गीकरण नियम के अनुसार, फंड का इक्विटी एक्सपोज़र 65% -80% के बीच होता है जबकि डेट एक्सपोज़र 20% -35% के बीच बनाए रखा जाता है।

अगर फंड की 24 साल की यात्रा पर नजर दौड़ाई जाए तो पता चलेगा कि इसकी स्थापना के समय (03 नवंबर, 1999) एक लाख रुपये का एकमुश्त निवेश, अब 30 नवंबर, 2023 तक कुल निवेश मूल्य का 29.33 लाख रुपये होता है और इसका अर्थ है 15.06% का सीएजीआर। ‌इसी दौरान निफ्टी 50 टीआरआई (अतिरिक्त बेंचमार्क) ने 13.48% का सीएजीआर दिया है और उसी निवेश का मूल्य 21.03 लाख रुपये होता। इसका मतलब यह है कि कम इक्विटी एक्सपोज़र यानी कम जोखिम के साथ भी यह फंड निफ्टी से बेहतर प्रदर्शन करने में सक्षम था। 

पिछले एक साल में भी इस फंड ने न केवल बेंचमार्क से बेहतर परफॉर्मेंस किया है, बल्कि अपनी कैटेगरी के प्रतिस्पर्धियों से काफी आगे निकल गया है और यह लगभग सभी समय-सीमा के दौरान अपनी कैटेगरी में लगातार बेहतर परफॉर्मेंस करने वाले फंड के रूप में उभरा है

एसआईपी में भी शुरुआत में 10,000 रुपये का मासिक निवेश इस समय बढ़कर 2.8 करोड़ रुपये हो गया होगा, जबकि निवेश केवल  28.9 लाख रुपये का ही किया गया है। इसका मतलब 16.12% का सीएजीआर की दर से रिटर्न मिला है।। निफ्टी 50 में इस निवेश पर केवल 14.43% का सीएजीआर रिटर्न मिला है। 

इस योजना में बाजार पूंजीकरण यानी लार्ज, मिड और स्मॉल कैप में निवेश करने की सुविधा है। 30 नवंबर, 2023 तक लार्ज, मिड और स्मॉल कैप शेयरों में एक्सपोज़र क्रमशः 90%, 5% और 5% है। आवंटन इन-हाउस प्राइस टू बुक मॉडल के अनुसार योजना के शुद्ध इक्विटी स्तर पर निर्भर करेगा। स्टॉक चयन के लिए, योजना टॉप-डाउन और बॉटम-अप अप्रोच के मिक्स का उपयोग करती है और अपने निवेश अप्रोच में सेक्टर को ज्यादा महत्व नहीं देता है। यह फंड पावर, टेलीकॉम, ऑटो और ऑयल एंड गैस पर ज्यादा भरोसा नहीं करता है। 

जब पोर्टफोलियो के डेट साइड की बात आती है, तो फंड सरकार, अर्ध-सरकारी एजेंसियों और अच्छी तरह से रिसर्च किए गए कॉर्पोरेट प्रतिभूतियों द्वारा जारी फिक्स्ड इनकम सेक्यूरिटीस में निवेश करता है। फंड चतुराई पूर्वक एए और उससे ऊपर की क्रेडिट रेटिंग वाली लंबी अवधि की निश्चित आय प्रतिभूतियों को आवंटित करता है, जो उचित संचय (accrual) प्रदान करती हैं। कॉर्पोरेट प्रतिभूतियों में एक्सपोज़र पोर्टफोलियो को उचित आय (कैरी) अर्जित करने में सक्षम बनाता है। 30 नवंबर, 2023 को डेट एक्सपोजर 27.5% है। डेट  होल्डिंग्स के भीतर, स्कीम में हाई कैरी से लाभ के लिए अच्छी क्रेडिट क्वालिटी इन्स्ट्रमेंट के प्रति उचित जोखिम है। पोर्टफोलियो का शेष 2.1% रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (आरईआईटी) और इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट्स) के यूनिट्स में निवेश किया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *