दुनिया में सबसे ज्यादा भर्तियां भारत में , लेकिन नहीं मिल रहे कुशल लोग 

मुंबई-दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं में सुस्ती के बीच अगले तीन महीनों में भारत में सबसे ज्यादा नियुक्ति की संभावना दिख रही है। 37 फीसदी कंपनियों ने कहा है कि वे कर्मचारियों की संख्या बढ़ाएंगी, जो 2023 की तुलना में पांच फीसदी अधिक है। मैनपावर ग्रुप ने विभिन्न सेक्टर और क्षेत्रों के लगभग 3,100 कंपनियों के साथ एक सर्वे में कहा कि भारत में कर्मचारियों की भर्ती की संभावना 41 देशों में सबसे अधिक है। 

मैनपावरग्रुप इंडिया और मध्य पूर्व के प्रबंध निदेशक संदीप गुलाटी ने कहा, राजनीतिक क्षेत्र में स्थिरता के साथ, प्रगतिशील भारत एक सपना नहीं बल्कि एक वास्तविकता है। घरेलू मांग में उछाल बना हुआ है। भारत को एक आकर्षक अर्थव्यवस्था बनाने के लिए निजी निवेश भी तेजी से हो रहा है। जनवरी-मार्च 2024 के लिए किए गए सर्वे में वे कंपनियां शामिल नहीं हैं, जो कर्मचारियों में कटौती की योजना बना रही हैं। 

सर्वे के अनुसार, भारत और नीदरलैंड 37 फीसदी की भर्ती की संभावना के साथ सबसे ऊपर हैं। कोस्टा रिका और अमेरिका 35 फीसदी के साथ दूसरे व मेक्सिको 34 फीसदी के साथ तीसरे स्थान पर है। हालांकि वैश्विक स्तर पर भर्ती की उम्मीद 26 फीसदी है। जिन क्षेत्रों में ज्यादा भर्ती होने की उम्मीद है उनमें वित्तीय और रियल एस्टेट 45 फीसदी के साथ शीर्ष पर हैं। सूचना प्रौद्योगिकी में 44 फीसदी व कंज्यूमर गुड्स और सेवाओं में 42 फीसदी हैं। 

पश्चिमी भारत में भर्तियों की उम्मीद 39 फीसदी व उत्तरी भारत में 38 फीसदी है। पूर्वी क्षेत्र में सबसे कमजोर भर्ती की उम्मीद है। ज्यादातर कंपनियों को जिन पदों पर कर्मचारी चाहिए, उनके लिए कुशल उम्मीदवार नहीं मिल रहे। जापान में 85 फीसदी नियोक्ता मानते हैं कि कुशल कर्मचारियों की भारी कमी है। जर्मनी, ग्रीस और इस्राइल में 82 फीसदी कंपनियां कुशल कर्मचारियों की कमी से जूझ रही हैं। 

भारत में 81 फीसदी नियोक्ताओं का मानना है कि कुशल कर्मचारी नहीं मिल रहे हैं। इस कमी से ट्रांसपोर्ट, लॉजिस्टिक और ऑटोमोटिव सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। उसके बाद सूचना प्रौद्योगिकी है। जिन पांच क्षेत्रों में सबसे ज्यादा कुशलता की मांग है, उनमें आईटी एवं डाटा, सेल्स एवं मार्केटिंग, इंजीनियरिंग, ऑपरेशन, लॉजिस्टिक एवं एचआर हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *