अदाणी समूह खरीद सकता है लैंकों पावर, 4000 करोड़ रुपये की लगाई बोली 

मुंबई- अडानी समूह की कंपनी अडानी पावर कारोबार को बढ़ाने के लिए नए सौदों पर ध्यान दे रही है। इस क्रम में अडानी पावर को पावर सेक्टर की एक संकटग्रस्त कंपनी में काफी संभावनाएं दिख रही हैं। दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही इस पावर कंपनी के लिए अडानी पावर ने दूसरी बार अपनी बोली बढ़ाई है और अब नया ऑफर 4000 करोड़ रुपये के पार निकल गया है।

अडानी पावर ने दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही कंपनी लैंको अमरकंटक पावर को खरीदने के लिए फिर से अपनी बोली बढ़ाई है। अडानी पावर ने अब लैंको अमरकंटक के लेंडर्स को 4,100 करोड़ रुपये का ऑफर दिया है। यह 6 सप्ताह के भीतर दूसरा मौका है, जब अडानी पावर ने आर्थिक संकटों से जूझ रही कंपनी को खरीदने के लिए बोली बढ़ाई है। 

अडानी पावर ने सबसे पहले दिसंबर 2022 में लैंको अमरकंटक पावर को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी. उस समय अडानी पावर ने 2,950 करोड़ रुपये का ऑफर दिया था। बाद में कंपनी ने पिछले महीने यानी नवंबर 2023 में बोली को बढ़ाकर नया ऑफर पेश किया था. तब अडानी समूह की कंपनी ने 3,650 करोड़ रुपये का बढ़ा हुआ ऑफर पेश किया था। अब इसे बढ़ाकर 4,100 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

लैंको अमरकंटक को खरीदने की रेस में पहले कई अन्य बड़े नाम भी शामिल थे। उनमें मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज भी शामिल थी. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 2,103 करोड़ रुपये का ऑफर पेश किया था. वहीं पीएफसी की अगुवाई वाले एक कंसोर्टियम ने 3,020 करोड़ रुपये का ऑफर दिया था। अडानी पावर ने एम समय खुद को रेस से बाहर कर लिया था।हालांकि अब अडानी की कंपनी लैंको अमरकंटक को खरीदने में फिर से दिलचस्पी ले रही है। 

लैंको अमरकंटक पावर दिवालिया होने के बाद इन्सॉल्वेंसी की प्रक्रिया से गुजर रही है। कंपनी छत्तीसगढ़ में कोरबा-चंपा हाइवे के पास कोयला आधारित थर्मल पावर प्लांट चलाती है. कंपनी के छत्तीसगढ़ प्लांट की मौजूदा क्षमता 600 मेगावाट की है, जबकि 1,320 मेगावाट क्षमता का काम पाइपलाइन में है। यह एसेट अडानी पावर के लिए रणनीतिक तौर पर अहमियत रखता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *