विदेशी निवेशक बना सकते हैं रिकॉर्ड, 1.57 लाख करोड़ रुपये के खरीदे शेयर 

मुंबई- विदेशी संस्थागत निवेशक यानी एफआईआई चालू वित्त वर्ष में भारतीय शेयर बाजार में निवेश का नया रिकॉर्ड बना सकते हैं। इन्होंने अप्रैल से अब तक कुल 1.57 लाख करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं। जबकि अभी भी करीब चार महीने का समय बाकी है। इससे पहले अब तक का सर्वाधिक निवेश का रिकॉर्ड 2020-21 में रहा है। उस समय कोरोना में बाजार की गिरावट में इन निवेशकों ने 2.74 लाख करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे। दिसंबर में इनकी तेज वापसी से एनएसई का निफ्टी भी बृहस्पतिवार को 21,000 के नए रिकॉर्ड पर पहुंच गया। 

नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लि (एनएसडीएल) के आंकड़ों के अनुसार, एफआईआई ने अब तक जिन वित्त वर्षों में एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के शेयर खरीदे हैं, उनमें 2010-11 में 1.10 लाख करोड़, 2012-13 में 1.40 लाख करोड़ और 2014-15 में 1.11 लाख करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे। इक्विटी के साथ ही डेट में भी इन निवेशकों ने इस साल 52,405 करोड़ रुपये का निवेश किया है। इस साल में डेट में अब तक केवल मार्च में 2,505 करोड़ रुपये की निकासी की है। 

हालांकि, बाजार में तेजी के कारण इन निवेशकों ने मुनाफावसूली भी की है। इस वजह से 2021-22 में 1.40 लाख करोड़ रुपये और 2022-23 में 37,632 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की थी। इस कैलेंडर साल में भी सितंबर में 14,768 करोड़ और अक्तूबर में 24,548 करोड़ रुपये की निकासी की है। नवंबर में 9,000 करोड़ से ज्यादा का निवेश किया है। 

एफआईआई ने इस पूरे कैलेंडर साल में अब तक 1.31 लाख करोड़ रुपये का निवेश शेयर बाजार में किया है। इसमें सबसे ज्यादा मई में 43,838 करोड़, जून में 47,148 करोड़ और जुलाई में 46,618 करोड़ रुपये का निवेश किया है। दिसंबर में अब तक 26,505 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं। ऐसे में अनुमान है कि इस महीने में निवेश का नया रिकॉर्ड ये निवेशक बना सकते हैं। 

इक्विटी के साथ ही इस साल अब तक डेट बाजार में 55,867 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। दरअसल, जेपी मॉर्गन ने अपने उभरते इंडेक्स में भारत के सरकारी बॉन्ड को अगले साल से शामिल करेगा। इस वजह से विदेशी निवेशक डेट में निवेश बढ़ा रहे हैं। ऐसा अनुमान है कि इस फैसले से भारत में 25-35 अरब डॉलर की रकम आ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *