इस साल आईपीओ ने दिया जमकर फायदा, 105 कंपनियां उतरीं बाजार में 

मुंबई- भारतीय शेयर बाजार में इस साल अब तक 105 कंपनियों के IPO पेश किए गए। इनमें से 45 कंपनियों के इश्यू BSE के मैन बोर्ड पर जबकि बाकी 57 कंपनियों के IPO बीएसई के SME सेगमेंट पर लिस्ट हुए। 

देसी शेयर मार्केट में 2023 के दौरान पेश हुए कुल IPOs में से 86 प्रतिशत ने निवेशकों को मुनाफा दिया जबकि बाकी IPOs से निवेशकों को नुकसान उठाना पड़ा। आज हम साल 2023 के उन टॉप 10 आईपीओ की बात करेंगे जिन्होंने लिस्टिंग डे पर निवेशकों की झोली भर दी। 

इसमें कोई दो राय नहीं है कि मुनाफे के हिसाब से टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज का इश्यू इस साल का सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा प्रॉफिट देने वाला IPO रहा। टाटा टेक्नोलॉजीज ने 3,042.51 करोड़ रुपये के IPO के तहत 6.09 करोड़ शेयरों को बिक्री के लिए रखा था। यह लिस्टिंग के पहले दिन 162.85 फीसदी के गेन के साथ 1314.25 रुपये के प्राइस पर बंद हुआ था। वहीं, सात दिसंबर, 2023 को टाटा टेक का शेयर 1,184 रुपये पर था। 

ड्रोन बनाने वाली कंपनी आइडियाफोर्ज टेक्नोलॉजी का आईपीओ 26 जून को खुलकर 29 जून को बंद हुआ था। कंपनी ने अपने 567.29 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 672 रुपये रखा था। आइडियाफोर्ज टेक्नोलॉजी के आईपीओ को भी इन्वेस्ट्रेस से शानदार प्रतिक्रिया मिली और 106.06 गुना सब्सक्राइब होने के बाद लिस्टिंग के पहले दिन 92.78 प्रतिशत के गेन के साथ 1295.50 रुपये पर बंद हुआ था।  

लिस्टिंग गेन के हिसाब से इस साल का तीसरा सबसे बड़ा आईपीओ उत्त्कर्ष स्माल फाइनेंस बैंक का रहा। बैंक के 500 करोड़ रुपये के आईपीओ में 20 करोड़ शेयरों की बिक्री की शामिल थी। बैंक ने अपने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 25 रुपये तय किया था। बैंक के इश्यू को भी निवेशकों ने दोनों हाथों से लपका और इसे 110.77 गुना ज्यादा बुक किया गया। बैंक का आईपीओ लिस्टिंग के दिन 91.76 फीसदी के गेन के साथ 47.94 रुपये पर बंद हुआ था। 

इरेडा के आईपीओ ने भी इस साल जमकर गदर मचाया और निवेशकों को तगड़ा मुनाफा दिया। पब्लिक सेक्टर की कंपनी ने 2150.21 करोड़ रुपये जुटाने के लिए अपना देसी शेयर बाजार में अपने आईपीओ लाई थी। कंपनी के आईपीओ को भी निवेशकों ने दोनों हाथों से लिया और यह 32 रुपये के प्राइज बैंड के मुकाबले लिस्टिंग के दिन 87.47 प्रतिशत के गेन के साथ 59.99 रुपये पर बंद हुआ। इरेडा के आईपीओ को 38.80 गुना सब्सक्राइब किया गया था। 

सुपर कंप्यूटर बनाने वाली देश की दिग्गज कंपनी Netweb Tech का 631 करोड़ रुपये का आईपीओ इस साल 17 जुलाई को खुला। कंपनी के आईपीओ को भी इन्वेस्टर्स से अच्छी प्रतिक्रिया मिली और 500 रुपए के इश्यू प्राइस के मुकाबले BSE पर कंपनी का शेयर लिस्टिंग के दिन 82.10 प्रतिशत के गेन के साथ 942.5 रुपए के भाव पर बंद हुआ।  

वॉइट ऑयल कंपनी गांधार ऑयल रिफाइनरी की भी शेयर बाजार में शानदार एंट्री हुई। कंपनी के IPO को निवेशकों की तरफ से जबरदस्त रिस्पांस मिला था और इसके इश्यू को 65.63 गुना सब्सक्राइब किया गया था। बाजार में लिस्टिंग के दिन तगड़ी एंट्री के बाद इसके निवेशकों को 78.40 फीसदी का गेन मिला और इसके शेयर 301.50 रुपये पर बंद हुए। 

इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण सेवा कंपनी साइएंट डीएलएम ने 592 करोड़ रुपये का आईपीओ पेश किया था। इसके लिए कंपनी ने प्राइस बैंड 265 रुपये तय किया था। कंपनी के आईपीओ में निवेशकों खूब पैसा लगाया था और इसे 71.35 गुना बुक किया गया था। कंपनी का शेयर लिस्टिंग के दिन अपने 265 रुपये के प्राइस बैंड के मुकाबले 58.77 प्रतिशत की बढ़त के साथ 420.75 रुपये पर बंद हुआ था।  

एयरोफ्लेक्स इंडस्ट्रीज के 351 करोड़ रुपये के आईपीओ को कुल 97.11 गुना सब्सक्राइब किया गया था। कंपनी ने अपने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 108 रुपये तय किया था। कंपनी के आईपीओ को भी निवेशकों से लिस्टिंग के पहले दिन जोरदार रेस्पांस मिला और यह 51.06 प्रतिशत के गेन के साथ 163.15 रुपये पर बंद हुआ था।  

कलम बनाने वाली कंपनी फ्लेयर राइटिंग इंडस्ट्री के 593 करोड़ रुपये के आईपीओ को 49.28 गुना सब्सक्राइब किया गया था। कंपनी ने अपने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 304 तय किया था। अपने प्राइस बैंड के मुकाबले कंपनी का शेयर लिस्टिंग के पहले दिन 48.91 प्रतिशत के गेन के साथ 452.70 रुपये पर बंद हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *