बायजू मालिक रविंद्रन ने कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए घर रखा गिरवरी 

मुंबई- नकदी के संकट से जूझ रही एडटेक कंपनी बायजूस के फाउंडर बायजू रवींद्रन ने एम्प्लॉइज को सैलरी देने के लिए अपने घर के साथ-साथ अपने फैमिली मेंबर्स का घर भी गिरवी रख दिया है। बेंगलुरु के दो घरों को गिरवी रखकर उन्होंने करीब 100 करोड़ रुपए जुटाए और 15,000 एम्प्लॉइज को सैलरी दी।  

पिछले कुछ दिनों में बायजूस के साथ ऐसे ही कुछ और इवेंट हुए हैं जो उसकी लगातार खराब होती स्थिति को दर्शाते हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बायजूस के खिलाफ दिवालिया कार्रवाई शुरू की। बायजूस पर ₹158 करोड़ के पेमेंट में चूक का आरोप है। बायजूस को 6 जनवरी को इस पेमेंट को लेकर नोटिस भेजा गया था। 

टेक इन्वेस्टर प्रोसस ने बायजूस का वैल्यूएशन घटाकर 3 बिलियन डॉलर से कम कर दिया है। पिछले साल कंपनी का वैल्यूएशन 22 बिलियन डॉलर था। यानी इसमें 85% की बड़ी गिरावट आई है। ED ने एक नोटिस जारी किया, जिसमें बायजूस पर 9,000 करोड़ रुपए से अधिक के FEMA उल्लंघन का आरोप लगाया गया। फॉरेन करेंसी फ्लो को कंट्रोल करने के लिए 1999 में FEMA बना था।  

गुरुग्राम ऑफिस का रेंट पेमेंट न करने पर कर्मचारियों को प्रॉपर्टी मालिक ने बाहर कर दिया। उनके लैपटॉप जब्त कर लिए। कंपनी के पास पैसा नहीं है और कंपनी अब उधारी के पैसों पर निर्भर है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *