22 हजार फर्जी जीएसटी का रजिस्ट्रेशन, 24,000 करोड़ रुपये की हुई चोरी  

मुंबई- बीते कई महीनों से फर्जी जीएसटी रजिस्ट्रेशन के खिलाफ सरकार विशेष अभियान चला रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पिछले दो महीने के विशेष अभियान के दौरान जीएसटी अधिकारियों ने 21,791 फर्जी जीएसटी रजिस्ट्रेशन का पता लगाया है जिनका कोई अता – पता नहीं था. उन्होंने कहा कि इस विशेष अभियान के दौरान 24,000 करोड़ रुपये से अधिक की जीएसटी चोरी का पता लगा है. 

संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान राज्यसभा में वित्त मंत्री से इसे लेकर सवाल किया गया था. राज्यसभा सांसद मौसम नूर ने वित्त मंत्री से सीबीआईसी द्वारा मई से जुलाई 2023 के बीच सीबीआईसी के विशेष अभियान के तहत फर्जी जीएसटी रजिस्ट्रेशन, कुल टैक्स की चोरी को लेकर सवाल पूछा था।  

जवाब में वित्त मंत्री ने कहा राज्य के टैक्स क्षेत्राधिकार के तहत 11392 और सीबीआईसी के अधिकार क्षेत्र को मिलाकर कुल 21791 इकाईयों का पता लगा है जिन्होंने फर्जी जीएसटी रजिस्ट्रेशन करा रखा था जो गैर-मौजूद पाई गई हैं। उन्होंने कहा कि राज्यों ने 8805 करोड़ रुपये और सीबीआईसी ने 15205 करोड़ रुपये को मिलाकुल कुल 24010 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का पता लगाया है। 

वित्त मंत्री ने कहा कि ईमानदार करदाताओं के हितों की रक्षा करने और करदाताओं को अत्यधिक कठिनाई से बचाने के लिए समय-समय पर निर्देश जारी किए गए हैं, जिसमें अधिकारियों को अपने शक्तियों के प्रयोग में उचित सावधानी बरतने का निर्देश दिया गया है। 

दरअसल 16 मई से 15 जुलाई, 2023 तक सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स और कस्टम यानि सीबीआईसी के फर्जी जीएसटी रजिस्ट्रेशन के खिलाफ चलाए गए विशेष अभियान के दौरान फर्जी रजिस्ट्रेशन के रूप में पहचानी गई संस्थाओं की संख्या और कुल टैक्स चोरी की रकम बारे में पूछे गये एक प्रश्न का लिखित उत्तर दे रहे थीं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *