टीसीएस के शेयर में कमा सकते हैं 20 फीसदी, एक से सात दिसंबर तक मौका

मुंबई- टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) एक दिसंबर से शेयरों की फिर से खरीद करेगी। निवेशक 4,150 रुपये प्रति शेयर पर अपने शेयर दे सकते हैं। मंगलवार को बंद 3,470 रुपये के भाव से यह करीब 20 फीसदी अधिक है। जिन खुदरा निवेशकों के पास 25 नवंबर से पहले के शेयर हैं, वे हर छह शेयर पर एक शेयर बेच सकते हैं। बाकी के शेयरधारक हर 209 शेयर पर दो शेयर बेच सकते हैं। 

कंपनी ने कहा कि शेयर Buyback से कंपनी को कारोबार में कोई लाभ या कमाई नहीं होगी, बल्कि निवेश की राशि में कमी आएगी। कंपनी ने कहा कि अगर वह चाहती तो इस रकम को कहीं अन्‍य निवेश करके कमाई कर सकती थी। कंपनी का मानना है कि ट्रांजैक्‍शन, टैक्‍स और अन्‍य खर्च को लेकर शेयर बायबैक का कुल खर्च 17,000 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का नहीं होगा। 

टीसीएस ने पहली बार अपने शेयर फरवरी 2017 में वापस खरीदे थे। उस समय टीसीएस ने मौजूदा भाव से करीब 18 फीसदी प्रीमियम पर 16,000 करोड़ शेयर वापस खरीदे थे। इसके बाद अक्‍टूबर 2018 में 18 फीसदी और अक्‍टूबर 2020 में 10 फीसदी प्रीमियम पर दो बायबैक किए थे। आखिरी बार जनवरी 2022 में टीसीएस ने 17 फीसदी प्रीमियम पर 18,000 करोड़ शेयर वापस लिए थे। 

जैसे बायबैक शब्द से ही स्पष्ट हो जाता है कि ‘वापस खरीदना’. शेयर बाजार की भाषा में इसका अर्थ शेयर को वापस खरीदना या वापस लेना होता है। जब कोई कंपनी प्रॉफिट में जाती है तो वह निवेशकों को लाभ देने के लिए शेयर बायबैक करती है यानी शेयरों को निवेशकों से वापस खरीदती है। कंपनी निवेशकों से शेयर के मौजूदा भाव से ज्‍यादा रकम देकर शेयर वापस लेती है, जिस कारण निवेशकों को लाभ मिलता है। अक्‍सर कंपनी के प्रॉफिट में आने के बाद ही शेयर बायबैक किया जाता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *