टूटा रिकॉर्ड,वाहनों की खुदरा बिक्री 19 फीसदी बढ़कर 37.93 लाख यूनिट पहुंची 

मुंबई-भारत में मजबूत मांग के दम पर इस साल त्योहारी सीजन में वाहनों की बिक्री रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई। 42 दिन के त्योहारी सीजन में कुल खुदरा बिक्री 19 प्रतिशत बढ़कर 37.93 लाख यूनिट रही। यह अब तक का रिकॉर्ड है। पिछले साल इसी दौरान 31.95 लाख वाहन बेचे गए थे। इस वर्ष त्योहारी सीजन 15 अक्तूबर को शुरू होकर 25 नवंबर को समाप्त हुआ। 

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशंस (फाडा) के आंकड़ों के मुताबिक, ट्रैक्टर के अलावा सभी सेगमेंट में सालाना आधार पर वृद्धि दर्ज की गई है। इस साल नवरात्रि के पहले दिन से शुरू होकर और धनतेरस के 15 दिन बाद समाप्त हुए त्योहारी सीजन में यात्री वाहन की खुदरा बिक्री 10 प्रतिशत बढ़कर 5.47 लाख रही। पिछले वर्ष की समान अवधि में यह 4.96 लाख यूनिट रही थी। 

फाडा अध्यक्ष मनीष राज सिंघानिया ने कहा, नवरात्रि में खराब प्रदर्शन के बावजूद दिवाली तक स्थिति में सुधार हुआ और बिक्री में 10 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। त्योहारों में स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहनों (एसयूवी) की मांग सबसे अधिक रही। दोपहिया वाहनों का पंजीकरण सालाना आधार पर 21 प्रतिशत बढ़कर इस साल 28.93 लाख यूनिट रहा। 2022 में यह 23.96 लाख यूनिट था। कई श्रेणियों में रिकॉर्ड तोड़ बिक्री दर्ज की गई। ग्रामीण क्षेत्रों ने खासकर दोपहिया वाहनों की वृद्धि में योगदान दिया। 

त्योहारी सीजन में वाणिज्यिक वाहनों की भी मांग बनी रही। सालाना आधार पर इनकी बिक्री आठ प्रतिशत बढ़कर 1.24 लाख यूनिट रही। इसी दौरान तिपहिया वाहनों का पंजीकरण 41 प्रतिशत बढ़कर 1.43 लाख यूनिट हो गया है। एक साल पहले समान अवधि में 1.01 लाख यूनिट की बिक्री हुई थी। 

ट्रैक्टर की बिक्री पिछले साल की त्योहारी अवधि में 86,951 यूनिट से घटकर 86,572 रह गई। नवरात्रि में ट्रैक्टर की बिक्री में 8.3 प्रतिशत की कमी देखी गई, लेकिन इसमें उल्लेखनीय सुधार हुआ। फाडा ने देश में वाहनों के कुल 1,442 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) में से 1,355 कार्यालयों के आंकड़ों के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *