अभ्युदय बैंक का प्रबंधन बर्खास्त, आरबीआई ने नियुक्त किया नया प्रशासक

मुंबई- एक और कोऑपरेटिव पर संकट के बादल छाए हुए हैं। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि कहीं इसका भी हाल पीएमसी बैंक जैसा न हो जाए। रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक के बोर्ड को अगले एक साल के लिए बर्खास्त करने का ऐलान किया। हालांकि रिजर्व बैंक ने साथ ही ये भी कहा कि बैंक के लिए बिजनेस के ऊपर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है। बकौल रिजर्व बैंक, अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक की सामान्य बैंकिंग गतिविधियां पहले की तरह ही जारी रहेंगी। 

रिजर्व बैंक ने कहा कि उसने गंभीर चिंताओं की वजह से अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक के बोर्ड को सुपरसीड करने का फैसला लिया है। सेंट्रल बैंक ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व मुख्य महाप्रबंधक सत्य प्रकाश पाठक को अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक का एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया है। अगले एक साल के लिए सत्य प्रकाश पाठक ही अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक के सारे मामलों को संभालेंगे। 

आरबीआई ने एडमिनिस्ट्रेटर के अलावा एक कमिटी ऑफ एडवाइजर्स की भी नियुक्त की है, जिसका काम एडमिनिस्ट्रेटर को उनके काम में सहयोग करना है। एसबीआई के पूर्व महाप्रबंधक वेंकटेश हेगड़े, चार्टर्ड अकाउंटेंट महेंद्र छाजेड और कॉस्मोस कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड के पूर्व प्रबंध निदेशक महेंद्र गोखले को कमिटी ऑफ एडवाइजर्स का सदस्य बनाया है। 

रिजर्व बैंक का कहना है कि अभ्युदय कोऑपरेटिव बैंक के संचालन को लेकर गंभीर आपत्तिंया थीं। गवर्नेंस के खराब स्टैंडर्ड के चलते उसे इस तरह का एक्शन लेने पर मजबूर होना पड़ा है. बैंक अब आगे एडमिनिस्ट्रेटर की देख-रेख में काम करेगा। अभ्युदय बैंक की गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक में 109 शाखाएं हैं और इसका कारोबार 18 हजार करोड़ रुपये के करीब है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *