एआई आएगा रेगुलेशन के दायरे में, सेबी की तरह नियामक बनाने की तैयारी 

नई दिल्ली। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) को भारत रेगुलेशन के दायरे में लाएगा। यह सेबी की तरह होगा जो इस पर पूरी निगरानी रखेगा। प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (पीएमईएसी) के सदस्य संजीव सान्याल ने कहा, एआई में स्व-नियमन और नौकरशाही के जरिये नियमन मॉडल के काम करने की संभावना नहीं है। 

सान्याल ने सुझाव दिया कि ऐसा नियामक हो जो टेक्नोलॉजी को समझता हो और इस पर ध्यान दे कि यह कैसे विकसित हो रहा है। एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, एआई प्रणाली के लिए सेबी की तरह नियामक की जरूरत है। एक ऐसी प्रणाली स्थापित हो जो वित्तीय बाजार की तरह हो। 

सान्याल ने कहा, इसमें सफल होने के लिए इससे पूरी तरह से जुड़ने की जरूरत है। इसमें कंपनी के निदेशक मंडल की तरह जवाबदेही तय करने की जरूरत है। यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि एआई व उसका व्यवहार जवाबदेह हो। नियमित ऑडिट करना होगा। कारोबारी मॉडल और खातों की तरह आपको यह समझाने की जरूरत है कि एआई क्या कर रहा है। इसलिए मानकों की जरूरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *