बायजू को ईडी का 9,000 करोड़ रुपये का नोटिस, फेमा उल्लंघन का है मामला 

मुंबई- प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बायजू रवीन्द्रन और थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड को 9,000 करोड़ रुपए का नोटिस भेजा है। ये नोटिस विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) उल्लंघन के मामले में जारी किया है। 

इससे पहले दिन में कंपनी ने नोटिस से जुड़ी मीडिया रिपोर्टों को खारिज किया था। कंपनी ने कहा था कि उसे ED से कोई फेमा उल्लंघन के मामले में कोई नोटिस नहीं मिला है। फॉरेन करेंसी के फ्लो को नियंत्रित करने के लिए 1999 में FEMA बनाया गया था। 

इसी साल अप्रैल में ED ने बायजूस के बेंगलुरु स्थित तीन ऑफिस में छापे मारे थे। तलाशी के दौरान दस्तावेज और डिजिटल डेटा जब्त किया गया। जांच एजेंसी के अनुसार, कंपनी को 2011 और 2023 के बीच 28,000 करोड़ रुपए का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) मिला है। इसके अलावा कंपनी ने भी FDI के नाम पर पैसा अलग-अलग देशों में भेजा। 

हाल ही में केंद्र सरकार ने बायजूस की अकाउंट बुक्स की जांच के आदेश दिए थे। इसमें जो सामने आएगा, उसके आधार पर सरकार फैसला लेगी कि क्या मामले को सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन ऑफिस के पास ले जाने की जरूरत है या नहीं। 

रेगुलेटरी जांच के घेरे में आने के बाद दुनिया की बड़ी ऑडिट कंपनियों में शुमार डेलॉय ने बायजूस के लीगल ऑडिटर के तौर पर इस्तीफा दे दिया था। डेलॉय ने कहा था कि 31 मार्च, 2022 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए कंपनी के फाइनेंशियल स्टेटमेंट लंबे समय से पेंडिंग हैं। 

इसके अलावा वित्त वर्ष 2020-21 के बारे में भी कोई कम्युनिकेशन नहीं होने की वजह से अब तक ऑडिट शुरू नहीं हो पाया है। बायजूस ने डेलॉय की जगह बीडीओ (एमएसकेए एंड एसोसिएट्स) को कंपनी का लीगल ऑडिटर नियुक्त किया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *