मुकेश अंबानी उतर सकते हैं आटो सेक्टर में, एमजी मोटर से चल रही है बात

मुंबई- चीन की दिग्गज ऑटो कंपनी SAIC के स्वामित्व वाली एमजी मोटर भारत में अपने कार बिजनस की बहुसंख्यक हिस्सेदारी बेचना चाह रही है। यह कुछ कंपनियों के साथ हिस्सेदारी बिक्री को लेकर बातचीत भी कर रही है। इन कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, हीरो ग्रुप, प्रेमजी इनवेस्ट और जेएसडबल्यू ग्रुप भी शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक भारतीय कंपनियों के साथ काफी तेजी से चर्चा चल रही है और एमजी मोटर इस साल के आखिर तक डील पूरी कर सकता है।’ सूत्र ने कहा कि बातचीत एडवांस स्टेज में है। विशेषरूप से एमजी को अपने विस्तार के अगले चरण के लिए तत्काल फंड की जरूरत है।

सूत्र ने कहा, ‘बातचीत जारी है और एमजी मैनेजमेंट का प्रयास आकर्षक वैल्यूएशन के साथ एक विश्वसनीय पार्टनर प्राप्त करना है। भारत-चीन सीमा पर बढ़ते तनाव के कारण चीन से जुड़ी कंपनियों को नए निवेश के लिए मंजूरी लेने में बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। इंडस्ट्री सूत्रों के अनुसार कंपनी करीब 2 वर्षों से अपनी मूल कंपनी से फंड जुटाने के लिए सरकारी अनुमति का इंतजार कर रही है। अब इसने जरूरी फंड जुटाने के लिए दूसरे विकल्पों की तलाश करना शुरू कर दिया है।

एमजी मोटर इंडिया के सीईओ राजीव चाबा ने कहा कि कंपनी का इरादा देश में वित्तीय संस्थानों, पार्टनर्स और एचएनआई इंडिविजुअल्स के लिए बहुसंख्यक हिस्सेदारी को कम करके “भारतीयकरण संचालन” का है। उन्होंने ईटी को बताया, ‘हम अगले दो-चार साल में शेयरहोल्डिंग, कंपनी के बोर्ड, मैनेजमेंट, सप्लाई चेन का भारतीयकरण करना चाहते हैं।’ एमजी मोटर इंडिया ने बुधवार को कहा कि वह अगले 2-4 वर्षों में लोकल पार्टनर्स और निवेशकों को बड़ी हिस्सेदारी देने की योजना बना रही है। क्योंकि वह देश में अपने विकास के अगले दौर के लिए लगभग 5,000 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *