चालू वित्त वर्ष में कंपनियों ने आईपीओ से जुटाए केवल 52,116 करोड़ रुपये 

मुंबई। चालू वित्त वर्ष में आईपीओ के जरिये कुल 37 कंपनियों ने केवल 52,116 करोड़ रुपये जुटाए हैं। यह 2021-22 में 53 कंपनियों के जुटाए गए रिकॉर्ड 1,11,547 करोड़ रुपये की तुलना में आधा से भी कम है। बावजूद इसके चालू वित्त वर्ष में तीसरी बार सबसे ज्यादा रकम कंपनियों ने जुटाया है। 

जानकारी के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष में कुल 52,116 करोड़ में से 20,557 करोड़ रुपये या 39 फीसदी हिस्सा अकेले एलआईसी ने जुटाए थे। बाकी 36 कंपनियों को 31,559 करोड़ रुपये मिले थे। 37 में से 25 निर्गम मई, नवंबर और दिसंबर में आए थे। इसी के साथ इक्विटी से जुटाई गई कुल रकम में भी गिरावट आई है। यह 56 फीसदी घटकर 76,076 करोड़ रुपये रह गई जो उसके पहले के साल में 1,73,728 करोड़ रुपये रही थी। 

एसएमई आईपीओ को मिला दें तो कुल आईपीओ से जुटाई गई रकम 54,344 करोड़ रुपये रही है। अन्य साधनों को मिलाकर पूंजी बाजार से कुल 85,021 करोड़ रुपये कंपनियों को मिले थे. इसमें से 11,231 करोड़ रुपये ऑफर फार सेल (ओएफएस) से आए थे। 9,335 करोड़ क्यूआईपी, इनविट, रीट से आए थे। 8,944 करोड़ रुपये बॉन्ड्स और अन्य रास्तों से आए थे। 

वित्त वर्ष 2021-22 में 1.12 लाख करोड़ में से 4,314 करोड़ रुपये एसएमई आईपीओ से मिले थे। 14,530 करोड़ ओएफएस से, 28,532 करोड़ क्यूआईपी,रीट, इनविट से मिले थे। 11,710 करोड़ रुपये बॉन्ड्स से जुटाए गए थे। 

कोरोना के बावजूद वित्त वर्ष 2021 में कुल 2,00,812 करोड़ रुपये जुटाए गए थे जिसमें से 28,440 करोड़ ओएफएस से आए थे। 35,515 करोड़ इनविट और रीट से जबकि 15,029 करोड़ एफपीओ और एसएमई से आए थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *