आरबीआई ने एसबीएम को सभी एलआरएस रोकने का आदेश दिया  

मुंबई- भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई (RBI) ने एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड को अगले नोटिस तक तत्काल प्रभाव से सभी लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम (एलआरएस LRS) लेन-देन को रोकने का निर्देश दिया है. आरबीआई ने बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत एसबीएम बैंक को एलआरएस ट्रांजैक्शंस रोकने का निर्देश दिया है। 

बैंक ने बैंकिंग नियमन कानून, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड को अगले आदेश तक लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम (एलआरएस) के तहत सभी लेनदेन तत्काल प्रभाव से रोकने का निर्देश दिया है. यह कार्रवाई बैंक में देखी गई कुछ भौतिक पर्यवेक्षी चिंताओं पर आधारित है। 

एलआरएस योजना के तहत, नाबालिगों सहित सभी निवासी व्यक्तियों को प्रति वित्तीय वर्ष $ 2,50,000 तक विदेशों में स्वतंत्र रूप से धन भेजने की अनुमति है। यह योजना 4 फरवरी, 2004 को 25,000 अमरीकी डालर की सीमा के साथ शुरू की गई थी। 

2019 में, आरबीआई ने एसबीएम बैंक (मॉरीशस) द्वारा नियामक मानदंडों का पालन नहीं करने के लिए एसबीएम बैंक (इंडिया) पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था, जो नवंबर 2018 में बैंक के साथ सम्मिलित हो गया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *