सहारा प्रमुख सुब्रत राय पर ढाई करोड़ के मामले में महिला ने किया एफआईआर 

मुंबई- सहारा इंडिया कंपनी और उसके प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। बीते दिनों सेबी ने सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन और उसके मुखिया सुब्रत रॉय को नोटिस भेजकर 15 दिनों के भीतर 6.48 करोड़ रुपये जमा करवाने का आदेश दिया तो अब राजस्थान के अजमेर में कंपनी और कंपनी के मालिक समेत 22 लोगों पर मामला दर्ज कर लिया गया है। 

सहारा कंपनी की सीनियर मोटीवेटर आरती अग्रवाल राय ने अजमेर के विजय नगर थाने में एफआईआर दर्ज करवाया है। आरती ने सहारा कंपनी, कंपनी के मालिक सुब्रत रॉय सहारा, उनकी पत्नी स्वप्ना रॉय समेत 22 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया है। अपनी शिकायत में आरती ने कहा है कि वो कंपनी के सीनियर मोटिवेटर के तौर पर कार्यरत थी। उनके माध्यम से कई लोगों ने सहारा की योजनाओं में निवेश किया। उनके परिवार के लोगों ने भी इस स्कीम में निवेश किया।  

लोगों ने अपने बच्चों की पढ़ाई, बेटी की शादी, घर बनवाने के लिए जो पैसे रखे थे वो इन स्कीम में निवेश किया था। उनका पैसा अब फंस गया है। कंपनी की ओर से कोई जवाब नहीं मिल रहा तो लोग मुझे धमका रहे हैं। मेरे घर आकर ये निवेशक मुझे पैसे वापस करने के लिए दवाब डाल रहे हैं।  

मुझे और मेरे पारिवार को धमकी मिल रही है। मेरे साथ कभी भी दुर्घटना हो सकती है। वो लोग मुझे घर आकर धमकी दे रहे हैं। मुझे और मेरे परिवार को धमकाया जा रहा है। कंपनी के कारण उनकी मुश्किलें बढ़ गई है। कंपनी के कारण मैं और मेरा परिवार डर के साथ जी रहा है। एफआईआर में कंपनी ने सहारा इंडिया और कंपनी के मालिक समेत 22 लोगों पर 13 धाराओं में कई गंभीर आरोप लगाए हैं। 

आरती ने सहारा पर ढाई करोड़ हड़पने का आरोप लगाया है। उन्होंने इसकी शिकायत दर्ज करवाते हुए सुब्रत राय सहित 22 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित 13 धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया है। महिला की शिकायत पर थानाधिकारी दिनेश कुमार चौधरी मामले की जांच कर रहे हैं। हालांकि आपो बता दें कि ये कोई पहला मामला नहीं है, जब धोखाधड़ी के मामले में सहारा और कंपनी के मालिक सुब्रत रॉय पर केस दर्ज करवाया गया है। देशभर में उनपर दर्जनों केस दर्ज है। सहारा में निवेश का पैसा फंस जाने के कारण कंपनी पर निवेशक मामला दर्ज करवा रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *