रिलायंस का मुनाफा 15 फीसदी घटा, 3 लाख करोड़ से ज्यादा का कर्ज 

मुंबई- रिलायंस इंडस्ट्रीज लि (आरआईएल) का दिसंबर तिमाही में शुद्ध मुनाफा 15 फीसदी घटकर 15,792 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले यह 18,549 करोड़ रुपये था। कंपनी ने शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद परिणाम जारी किया। इसका राजस्व 15.3 फीसदी बढ़कर 1.91 लाख करोड़ से 2.20 लाख करोड़ रुपये के पार रहा। 

कंपनी पर कुल 303,530 करोड़ रुपये का कर्ज है। हालांकि, उसके पास 193,282 करोड़ नकद और इसके समकक्ष है। इसलिए शुद्ध कर्ज 1.10 लाख करोड़ रुपये के करीब है। कंपनी ने कहा कि तिमाही में 37,599 करोड़ रुपये का निवेश किया, जिससे यह कर्ज दिख रहा है। इसकी योजना ग्रीन एनर्जी में 75 अरब डॉलर का निवेश करने की है। कंपनी के बोर्ड से अपरिवर्तनीय डिबेंचर (एनसीडी) से 20 हजार करोड़ रुपये जुटाने को मंजूरी दे दी। 

रिलायंस की दूरसंचार कंपनी जियो का मुनाफा समान तिमाही में 28.3 फीसदी बढ़कर 4,638 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले यह 3,615 करोड़ था। इसका राजस्व 19,347 करोड़ से बढ़कर 22,993 करोड़ रुपये रहा। इस दौरान इसकी प्रति ग्राहक मासिक कमाई 17.5 फीसदी बढ़कर 178.20 रुपये हो गई। तीसरी तिमाही में इसने 53 लाख शुद्ध ग्राहक जोड़े। 

रिलायंस रिटेल का राजस्व इसी दौरान 18.64 फीसदी बढ़कर 60,096 करोड़ रुपये रहा। इसने 789 नए स्टोर खोले हैं जिससे कुल स्टोर की संख्या 17,225 हो गई है। इसका शुद्ध फायदा 6.24 फीसदी बढ़कर 2,400 करोड़ रुपये रहा। 

कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा, साल-दर-साल आधार पर मजबूत ग्रोथ में सभी सेगमेंट का योगदान रहा है। सभी बिजनेसेज में हमारी टीमों ने बेहतरीन काम किया है। कंपनी ने कहा कि उसका EBITDA साल दर साल 13.5% बढ़कर 38,460 करोड़ रुपए (4.6 अरब डॉलर) हो गया। डिजिटल कारोबार में सब्सक्राइबर बेस बढ़ने, कंजम्प्शन बास्केट में ग्रोथ समेत अन्य बिजनेस के अच्छे परफॉर्मेंस से EBITDA बढ़ा है। हम हरित ऊर्जा क्षेत्र में क्रांति लाने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत जामनगर में नई ऊर्जा गीगा कारखानों के कार्यान्वयन की दिशा में तेजी से प्रगति कर रहे हैं। हमारी मजबूत बैलेंस शीट और मजबूत नकदी प्रवाह मौजूदा व्यवसायों को बढ़ाने के साथ-साथ नए अवसरों में निवेश करने की हमारी प्रतिबद्धता की आधारशिला है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *