भाजपा के सांसद ने इंडिगो का खोला आपातकाल दरवाजा, मामला रफा-दफा 

मुंबई- इंडिगो एयरलाइन के विमान का इमरजेंसी गेट खोलने के मामले में सिविल एविएशन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि फ्लाइट ग्राउंड पर थी, और तेजस्वी सूर्या ने गलती से दरवाजा खोल दिया था। सभी सिक्योरिटी चेक के बाद फ्लाइट को उड़ान भरने की अनुमति दी गई थी। उन्होंने गलती के लिए माफी भी मांगी है। 

इस मामले में तेजस्वी सूर्या का नाम आने के बाद विपक्षी पार्टियों और लोगों ने सवाल उठाने शुरू कर दिए थे कि भाजपा सांसद के खिलाफ मामला क्यों नहीं दर्ज किया जा रहा है। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सफाई दी है। 

दरअसल, 10 दिसंबर 2022 को इंडिगो का प्लेन चेन्नई से तिरुचिरापल्ली जा रहा था, तब फ्लाइट ग्राउंड पर थी, और तेजस्वी सूर्या ने इमरजेंसी एग्जिट खोल दिया था। इसे लेकर मंगलवार को एयरलाइन ने बताया था कि चेन्नई में बोर्डिंग के दौरान एक पैसेंजर ने फ्लाइट 6E 7339 का इमरजेंसी गेट खोल दिया था। 

एयरलाइन ने तेजस्वी सूर्या का नाम लिए बिना बताया था कि पैसेंजर ने अपना हाथ इमरजेंसी गेट पर रखा जिससे वह खुल गया। उन्होंने इस गलती के लिए माफी मांग ली थी। सारे सिक्योरिटी चेक पूरा करने के बाद ही फ्लाइट ने उड़ान भरी थी, जिसके चलते फ्लाइट दो घंटे की देरी से तिरुचिरापल्ली पहुंच पाई थी। 

DGCA के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि इस घटना को तुरंत नोटिस किया गया था और किसी यात्री की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया गया। पैसेंजर ने प्लेन के दाहिने तरफ लगे इमरजेंसी गेट को गलती से खोल दिया था। अधिकारी ने कहा कि क्रू ने इस घटना के बाद सभी जरूरी कदम उठाए। विमान के उड़ान भरने से पहले दरवाजे को दोबारा इंस्टॉल किया गया और प्रेशर चेक भी किया गया। 

कर्नाटक कांग्रेस ने बुधवार को एक के बाद एक ट्वीट कर कहा कि तेजस्वी सूर्या हर जगह बच्चों के जैसा बर्ताव करते हैं। इमरजेंसी गेट को खोलना दंडनीय अपराध है। एविएशन अथॉरिटीज इस मामले को दबाने की कोशिश में क्यों हैं? अगर कोई हादसा हो जाता तो इसका जिम्मेदार कौन होता? तेजस्वी सूर्या हर जगह बचकानी हरकतें क्यों करते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *