भारत 2027 से हर दूसरे एपल आईफोन का करेगा उत्पादन 

मुंबई- भारत में 2027 तक दुनिया के हर दूसरे आईफोन का उत्पादन होने की संभावना है। आंकड़ों से पता चलता है कि एपल ने अप्रैल से दिसंबर तक भारत से 2.5 अरब डॉलर से अधिक के आईफोन का निर्यात किया, जो 2021 में इसी अवधि की तुलना में दोगुना है। ताइवान के डिजीटाइम्स अखबार ने साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के हवाले से कहा कि भारत 2025 तक दुनिया भर में कुल आईफोन का 25 फीसदी असेंबलिंग करेगा। 

एपल ने पिछले साल ही भारत में अपने आईफोन मॉडल को असेंबल करना शुरू किया था। यह खासकर ताइवानी कंपनियों द्वारा बनाया जाता है। एपल के सबसे बड़े आपूर्तिकर्ता फॉक्सकॉन ने पांच साल पहले देश में सुविधाओं का निर्माण शुरू किया था। भारत को इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण केंद्र बनाने के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना इन कंपनियों को पसंद आ रही है। फॉक्सकॉन को पीएलआई के पहले वर्ष में 3.6 अरब रुपये का लाभ मिला है। 

उद्योग के अधिकारियों के अनुसार, भारत में विनिर्माण तेजी से बढ़ना तय है क्योंकि एपल के तीन निर्माता – फॉक्सकॉन, पेगाट्रॉन और विस्ट्रॉन 41,000 करोड़ रुपये की पीएलआई का हिस्सा हैं। पिछले महीने प्रसिद्ध विश्लेषक मिंग-ची कुओ ने एक ट्वीट में कहा था कि फॉक्सकॉन अपने भारत संयंत्र में क्षमता के विस्तार में तेजी लाएगी। परिणामस्वरूप, भारत में फॉक्सकॉन द्वारा बनाए गए आईफोन का उत्पादन 2023 में कम से कम 150% की दर से बढ़ेगा। इससे मध्यम से लेकर लंबे समय में भारत से आईफोन का निर्यात बढ़कर 40-45 फीसदी हो सकता है जो अभी 2-4 फीसदी के बीच है। 

साइबरमीडिया रिसर्च (सीएमआर) की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस साल के अंत तक 5जी स्मार्टफोन शिपमेंट में 70% की वृद्धि होगी। 2020 में इसके शुरूआती वर्ष में बिक्री में 13 गुना वृद्धि दर्ज की गई थी। 5जी स्मार्टफोन का हिस्सा 2020 में 4% था जो इस साल के अंत तक 45% होने की उम्मीद है। सीएमआर ने कहा कि 2022 में लगभग 100 5जी स्मार्टफोन के 100 मॉडल लॉन्च किए गए थे। इस साल लॉन्च होने वाले नए स्मार्टफोन में से 75% के करीब 5जी हो सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *