पाकिस्तान में महंगाई का कोहराम, आटे की कीमत 200 रुपये किलो के पार 

मुंबई- पाकिस्तान में महंगाई ने कोहराम मचा रखा है। लोग दाने-दाने के मोहताज हो गए हैं। खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं। भूख मिटाने के लिए लोगों को मौत का सामना करना पड़ रहा है। पिछले दिनों आटा खरीदने के लिए ऐसी भगदड़ मची की चार लोगों की मौत हो पाकिस्तान का CPI यानी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 24.5 फीसदी के पार हो गया है।  

लोग महंगाई के कोहराम से बेहाल हो गए हैं। पाकिस्तान का गेंहू स्टॉक खत्म होने के कगार पर है। खैबर पख्तनूख्वा, सिंध और बलूचिस्तान प्रांतों में आटे के लिए मारामारी मची है। आटे के लिए ऐसी भगदड़ मची की चार लोगों की मौत हो गई। पाकिस्तान में महंगाई सातवें आसमान को पार कर गई है। यहां खाने-पीने के चीजों के दाम बेलगाम हो गए हैं। सड़कों पर लोगों की लंबी कतारे लगी हैं, जो खाने की चीजों के लिए घंटों-घंटों तक लाइनों में लगे रहते हैं। हालात ऐसे हैं कि पाकिस्तान में गेहूं की कीमत 5000 रुपये प्रति मन के पार हो गई है।  

पाकिस्तान की आधी जनसंख्या को दो वक्त की रोट तक नसीब नहीं हो पा रही है। रावलपिंडी में आटे की कीमत 150 से 200 रुपये प्रति किलो बिक रही है। वहीं एक दर्जन अंडे की कीमत 330 रुपये प्रति पाकिस्तानी रुपये पर बिक रहा है। चिकन की कीमत 650 रुपये /किलो, दूध 190 रुपये प्रति लीटर, घी 540 रुपये प्रति किलो, तेल की कीमत 580 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। 

​आटा नहीं दे सकते तो हमारे ऊपर गाड़ी चढ़ा दो 

पाकिस्तान की आधी जनसंख्या भूखे पेट सो रही है। अधिकांश इलाके में आटा 150 से 200 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। सोमवार को खबर आई कि सिंध प्रांत में सरकार सस्ता आटा बेच रही है। खबर फैलते ही वहां भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में 4 लोगों की मौत हो गई। पाकिस्तान का गेंहू स्टॉक खत्म होने के कगार पर है। कड़ी सुरक्षा के बीच आटे की बिक्री हो रही है।  

पाकिस्तान में 10 किलो वाले आटे का पैकेट 1600 से 1700 रुपये और 20 किलो वाला पैकेट 2800 से 3000 रुपये का बिक रहा है। खुद पाकिस्तान के मंत्री दावा कर रहे हैं कि उनके पास गेहूं का स्टॉक खत्म हो चुका है। भूख से बिलखते लोग जान जोखिम में डाल रहे हैं। 

पाकिस्तान पैसे बचाने के लिए अजब-गजब तरीका अपना रहा है, जो इन दिनों चर्चा में हैं। पाकिस्तान सरकार ने 8 बजे के बाद बाजार बंद करने का आदेश दे दिया है। दुकाने, शॉपिंग मॉल सब 8 बजे के बाद बंद कर दिए जा रहे हैं। उनका दावा है कि ऐसा करने वो 30 फीसदी बिजली बचा लेंगे। इससे 6200 करोड़ की बचत होगी। इतना ही नहीं पाकिस्तान सरकार ने जुलाई 2023 से पुरानी तकनीक वाले पंखे और बल्ब बंद करने का आदेश दे दिया है। उनका कहना है कि पुरानी तकनीक से चलने वाले अप्लायंस में ज्यादा बिजली की खपत होती है। पाकिस्तान का दावा है कि ऐसा करके वो 2200 करोड़ बचत कर लेंगे। 

अल अरबिया पोस्ट के मुताबिक पाकिस्तान में लोग गैस सिलेंडर के बदले खतरनाक तरीके से प्लास्टिक की थैलियों में गैस भरने को मजबूर है। सोशल मीडिया पर इस तरह के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं। यहां एक कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 10 हजार रुपये तक पहुंच गई है। जिसके कारण लोग प्लास्टिक की थैलियों में एलपीजी गैस सिलेंडर भरने को मजबूर है। इतना ही नहीं चाय की चुस्कियों पर पाबंदी लगाने की तैयारी कर ली गई है। नेशनल टी एंड हाई वैल्यू क्रॉप्स इंस्टीट्यूट के मुताबिक पाकिस्तान में हर सेकेंड 3000 कप चाय पी जाती है। पाकिस्तान के मंत्री लोगों को इसे कम करने की सलाह दे रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *