अब सभी मोबाइल-लैपटॉप के लिए एक चार्जर, लोगों के पैसों की बचत होगी 

मुंबई- अब अलग-अलग गैजेट्स के लिए अलग-अलग चार्जर की जरूरत खत्म हो गई है। सोमवार को सरकार ने टाइप-सी चार्जिंग को इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए स्टैंडर्ड बना दिया है। इसका मतलब अब कोई भी मोबाइल हो, लैपटॉप और नोटबुक सभी तरह के गैजेट्स के लिए टाइप-सी ही पोर्ट स्टैंडर्ड रहेगा। 

ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स बीआईएस) ने एक बयान में कहा, ई-कचरे को कम करने के उद्देश्य और इस दिशा में बेहतर काम करने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है। पहले ग्राहकों को अलग-अलग इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के लिए अलग-अलग चार्जर रखना होता था। इसमें पैसे भी खर्च होते थे और ई-कचरा भी बढ़ता था। इतना ही नहीं इन चार्जर के रख-रखाव में भी काफी परेशानियां होती थी। 

उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा,पिछले साल दिसंबर में ही स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप के लिए चार्जिंग पोर्ट के रूप में यूएसबी टाइप-सी को अपनाने की सहमति सभी शेयरधारकों ने दी थी। बीआईएस ने भी टाइप सी चार्जर के लिए स्टैंडर्ड को अधिसूचित किया है।भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) ने सोमवार को कुल तीन इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों डिजिटल टेलीविजन रिसीवर, यूएसबीसी टाइप-सी चार्जर और वीडियो निगरानी प्रणाली के लिये गुणवत्ता मानदंड जारी किए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *