एलआईसी ने न्यू जीवन शांति एन्यूटी प्लान में दरों में किया इजाफा 

मुंबई- एलआईसी (LIC) के न्यू जीवन शांति एन्युटी प्लान में निवेश करने वालों के लिए अच्छी खबर है। कंपनी ने नए साल पर उन्होंने तोहफा दिया है। इस प्लान के लिए एन्युटी रेट्स बढ़ा दिए हैं। नई दरें पांच जनवरी, 2023 से लागू होंगी। कंपनी ने साथ ही हायर परचेज प्राइसेज के लिए इनसेंटिव भी बढ़ा दिया है। यह बढ़ोतरी परचेज प्राइस और डिफरमेंट पीरियड के आधार पर की गई है।  

इस सिंगल प्रीमियम प्लान में पॉलिसीधारक के पास सिंगल लाइफ या जॉइंट लाइफ डेफर्ड एन्युटी में से कोई एक सेलेक्ट करने का विकल्प है। कंपनी ने यह प्लान ऐसे प्रोफेशनल्स के लिए शुरू किया है जो नौकरी कर रहे हैं या अपना खुद का काम कर रहे हैं। 

कंपनी ने एक प्रेस रिलीज में बताया कि इस प्लान का मॉडिफाइड वर्जन पांच जनवरी, 2023 से बिक्री के लिए उपलब्ध होगा। इसके लिए इनसेंटिव भी बढ़ा दिया गया है। यह 1000 रुपये के परचेज के लिए तीन रुपये से 9.75 रुपये तक है। यह योजना ऐसे लोगों के लिए अच्छी है जो अभी युवा हैं। वे अपनी अतिरिक्त कमाई को इसमें निवेश कर सकते हैं। वे डेफर्ड एन्युटी प्लान्स में निवेश करके रिटायरमेंट के लिए प्लानिंग करना शुरू कर सकते हैं। 

इस प्लान में सिंगल लाइफ और जॉइंट लाइफ के लिए डेफर्ड एन्युटी का विकल्प है। लेकिन एक बार विकल्प चुनने पर इसे बदला नहीं जा सकता है। इसमें मासिक कम से कम एन्युटी 1000 रुपये, तिमाही कम से कम एन्युटी तीन हजार रुपये, छमाही एन्युटी 6000 रुपये और सालाना कम से कम एन्युटी 12,000 रुपये है। इनमें एन्युटी का भुगतान एरियर में होगा। पॉलिसी शुरू होने के साथ एन्युटी रेट्स की गारंटी दी जाती है और एन्युटी पीरियड की समाप्ति पर एन्युटी की भुगतान किया जाता है। 

न्यू जीवन शांति स्कीम एक नॉन लिंक्ड, नॉन पार्टिसिपेटिंग, इंडिविजुअल, सिंगल प्रीमियम और डेफर्ड एन्युटी प्लान है। इस पॉलिसी को खरीदते वक्त आपको एकमुश्त पैसे जमा करने होते हैं। इसके बाद आपको निश्चित अवधि पर पेंशन मिलने लगती है। डेफर्ड एन्युटी फॉर सिंगल लाइफ ऑप्शन में आप एक व्यक्ति के लिए पेंशन स्कीम को खरीद सकते हैं। जब किसी पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है उसके खाते में जमा पैसा नॉमिनी को मिल जाएगा। डेफर्ड एन्युटी फॉर जॉइंट लाइफ में अगर किसी एक व्यक्ति की मृत्यु होती है तो दूसरे को पेंशन की सुविधा मिलती रहती है। दोनों की मृत्यु के बाद जो पैसा पॉलिसी का रहता है वह नॉमिनी को दे दिया जाता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *