भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा वाहन बाजार, जापान को पीछे छोड़ा 

मुंबई- भारत बिक्री के लिहाज से जापान को पीछे छोड़कर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा वाहन बाजार बन गया है। निक्केई एशिया की शुक्रवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, चीन दुनिया का सबसे बड़ा वाहन बाजार है, जबकि अमेरिका दूसरे और जापान चौथे स्थान पर है।  

शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक, भारत में नए वाहनों की कुल बिक्री 2022 में न्यूनतम 42.5 लाख इकाई पहुंच गई। यह आंकड़ा 2021 के मुकाबले करीब 24 फीसदी ज्यादा है। जापान ने इस दौरान 42 लाख नए वाहन बेचे, जो 2021 से 5.6 फीसदी कम है। चीन में बिक्री सर्वाधिक 2.627 करोड़ और अमेरिकी में 1.54 करोड़ रही। 

सोसायटी ऑफ इंडिया ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स के मुताबिक, भारत में जनवरी-नवंबर, 2022 के बीच कुल 41.3 लाख वाहन बिके। दिसंबर की बिक्री के बाद यह आंकड़ा बढ़कर 42.5 लाख पहुंच गया। 

निक्केई एशिया ने कहा, वाणिज्यिक वाहनों के लिए चौथी तिमाही के बिक्री के आंकड़े आने हैं। टाटा मोटर्स और अन्य वाहन निर्माता कंपनियां भी साल के अंत में नतीजे जारी करेंगी। इन सबको मिलाकर भारत में वाहनों की बिक्री का आंकड़ा और बढ़ेगा। निक्केई एशिया के मुताबिक, भारतीय वाहन बाजार में हाल के वर्षों में उतार-चढ़ाव आया है।  

पिछले साल भारत में बिकने वाली ज्यादातर गाड़ियां हाइब्रिड थीं। इसके बाद गैसोलीन से चलने वाली गाड़ियों को सर्वाधिक पसंद किया गया। हालांकि, इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा। 

ब्रिटिश शोध फर्म यूरोमॉनिटर के अनुसार, 2021 में सिर्फ 8.5 फीसदी भारतीय परिवारों के पास एक यात्री वाहन था। अब इसमें तेजी से इजाफा हो रहा है। तेल आयात की वजह से बढ़ रहे व्यापार घाटे में कमी लाने के लिए सरकार ई-वाहनों की खरीद पर सब्सिडी दे रही है। 

जापान में 1990 में वाहनों की बिक्री 77.7 लाख के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी, जो अब करीब आधी रह गई है। चीन बिक्री के लिहाज से 2006 में जापान को पीछे छोड़ दूसरे स्थान पर पहुंच गया। 2009 में वह अमेरिका को पीछे छोड़ सबसे बड़ा बाजार बन गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *